पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काले खां में क्राइम पेट्रोल देख पोते ने की वारदात:डांटने से नाराज पोते ने राॅड मारकर दादी की हत्या की, फिर शव को तेल डाल जलाया

होशियारपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जोगिंदर कौर - Dainik Bhaskar
जोगिंदर कौर

थाना हरियाना के गांव बस्सी काले खां में एक दिल दहला देने वाली वारदात हुई है। पोते ने दादी जोगिंदर कौर(83) को पहले रॉड से मारी फिर जलाकर हत्या कर दी। आरोपी युवराज सिंह ने वारदात को अंजाम सिर्फ इस लिए दिया कि दादी उसे डांटती थी। आरोपी ने मामले को छुपाने के लिए लूटपाट की साजिश रची और खुद के हाथ-पांव भी बांधे लिए।

लेकिन पुलिस ने शक के आधार पर पोते से कड़ी पूछताछ की तो मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि सीआईडी और क्राइम पेट्रोल देखकर आरोपी ने अपनी दादी को मारा है।

मां-बाप शॉपिंग करने गए थे, मौका मिला तो मार दिया
एसएचओ हरगुरदेव सिंह ने बताया कि हरजीत सिंह ने ब्यान में बताया कि 12 अप्रैल सोमवार को वह पत्नी के साथ हरियाणा से खरीदारी करके लौट रहा था। जब बाबा काले खां पहुंचे तो युवराज ने फोन कर कहा पापा घर जल्दी आ जाओ कुछ घर में लोग घुस आए हैं। जब घर आए तो मेन गेट अंदर से बंद होने के कारण छोटे गेट से अन्दर दाखिल आया। इतने में पड़ोसी लखविंदर सिंह भी आ गए। इसके बाद देखा मां के कमरे और बेड को आग लगी हुई थी। इसके बाद पानी से आग को बुझाया लेकिन मां की मौत हो चुकी थी। इसके बाद पत्नी ने युवराज को आवाज़ लगाई तो वह दूसरे कमरे में आवाज लगा रहा था। हरजीत सिंह ने बताया कि युवराज सिंह बेड बॉक्स में लेटा हुआ था और बेड सभी तरफ कपडे़ बिखरे पड़े थे और उसके हाथ पांव-चुन्नी के साथ बंधे हुए थे।

युवराज ने बताया कि घर में चार लोग सीढियों से घर अंदर दाखिल हुए थे और उसके हाथ पांव-बांध कर बेड में फेंक दिया था और फिर वह दादी के कमरे व उसके बेड को आग लगा दी थी। युवराज ने बताया कि अज्ञात लोगों ने कहा कि अपने पिता को बोले कि जो उन पर केस किए हुए हैं वह वापिस ले लें नहीं तो उनका सारा परिवार मार देंगे। आग बुझने के बाद देखा जोगिंदर कौर का शरीर बुरी तरह जला हुआ था और उसके माथे के दाईं तरफ गहरे जख्म का निशान था जिन्होंने उसकी माता की हत्या करके सबूत नष्ट करने के लिए आग लगाई है। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी ने गुनाह कबूल कर लिया।

पैर टूटने की वजह से साढ़े तीन महीने से बेड पर थी जोगिंदर कौर
परिवार वालों ने बताया कि पैर टूटने की वजह से जोगिंदर कौर पिछले साढ़े तीन महीने से बेड पर थी और वह उठ बैठ नहीं सकती थी। इस दौरान मृतका का बेटा ही उसकी देखभाल करता था। आरोपी अपने मातापिता की इकलौता बेटा था जबकि उसकी बड़ी बहन कुछ समय पहले ही विदेश पढ़ाई के लिए चली गई थी। पुलिस ने बताया के आरोपी के मातापिता की सोमवार सालगिरह थी और वह शॉपिंग करने के लिए बाज़ार गए हुए थे और इसी दौरान आरोपी को मौका मिल गया दादी की हत्या कर दी।

खबरें और भी हैं...