• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Hoshiarpur
  • Dengue Cases Cross 1000, Record 71 Patients Found In A Day, 255 Cases Have Been Reported In A Week; All The Claims Of Health Department And Corporation To Prevent Dengue Failed

चिंताजनक:डेंगू मामले 1000 पार, एक दिन में रिकाॅर्ड 71 मरीज मिले हफ्ते में 255 केस सामने आ चुके; डेंगू रोकने के सेहत विभाग और निगम के तमाम दावे फेल

होशियारपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
होशियारपुर के सिविल अस्पताल का डेंगू वार्ड। यहां 5 मरीज भर्ती हैं।  (दाएं) फॉगिंग करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
होशियारपुर के सिविल अस्पताल का डेंगू वार्ड। यहां 5 मरीज भर्ती हैं। (दाएं) फॉगिंग करते कर्मचारी।

जिले में डेंगू बेकाबू होता जा रहा है। वीरवार को इस सीजन में एक दिन में सबसे अधिक रिकाॅर्ड 71 नए मरीज मिले हैं। इससे पहले बुधवार को डेंगू के एक दिन में 62 मरीज मिले थे। 71 नए केस आने के साथ ही जिले में डेंगू मरीजों का कुल आंकड़ा 1066 पहुंच गया है। जिले की बात करें तो 1066 में से करीब एक हजार मामले होशियारपुर शहर से ही हैं।

हालांकि प्रशासन की तरफ से डेंगू रोकथाम के तमाम दावे किए जा रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर न तो फाॅगिंग में तेजी लाई जा रही है और न ही जलभराव वाले स्थान पर केमिकल का स्प्रे नियमित हो रहा है। सिविल अस्पताल के इंचार्ज सीनियर मेडिकल ऑफिसर डा.जसविन्द्र सिंह ने बताया कि मासम में बदलाव की वजह से लोगों को परहेज करना जरूरी हो गया है, लेकिन लोग भी जागरूक नहीं हो रहे। वीरवार को सिविल अस्पताल में कुल 30 मरीजों में से 25 मरीज के प्लेटलेट्स कम होने की वजह से दाखिल किया गया। वहीं, 5 मरीजों को डेंगू वार्ड में दाखिल किया गया है।

पढ़ें...ये सावधानी रखकर डेंगू से कर सकते हैं बचाव

  • अपने घरों के आसपास पानी न खड़ा होने दें
  • कूलरों का पानी निकालकर एक सप्ताह में जरूर साफ करें
  • टंकियों पर हमेशा ढक्कन रखें
  • गहरे गड्ढों को मिट्टी से भरें
  • नालियों में खड़े पानी में काला तेल डालें, ताकि लारवा न हो
  • शरीर को लपेट कर रखे ताकि मच्छर काट न सके
  • रात को सोने के समय मच्छरदानियों व मच्छर भगाने वाले दवा का प्रयोग करें
  • बुखार होने पर तुरंत नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

तरल पदार्थ पीएं व पौष्टिक आहार लें
पौष्टिक आहार का सेवन करें, जिससे ब्लड काउंट बढ़े। भरपूर आराम करें। ज्यादा से ज्यादा पानी, लस्सी, जूस, नींबू पानी, ओआरएस, नारियल पानी आदि का सेवन करें। अगर डेंगू होने पर प्लेटलेट्स काउंट एक लाख से नीचे चला जाए तो मंजन करने से परहेज करें। तबीयत बिगड़ने पर डॉक्टर की सलाह से अस्पताल में भर्ती हो जाएं।

6 साल में यह दूसरा मौका जब डेंगू के इतने केस मिले, 2017 में 1280 केस थे
पिछले 6 साल में डेंगू के मरीज मिलने का यह दूसरा अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले साल 2017 में डेंगू के 1280 केस आए थे। 2015 में डेंगू के 536 केस, 2016 में 406 केस, 2017 में 1280 केस, 2018 में 490 केस, 2019 में 460, 2020 में 297 केस आए थे।

वहीं, पिछले एक हफ्ते में ही डेंगू के 255 केस आ चुके हैं। इससे शहरवासियों में भी डेंगू को लेकर डर का माहौल है। हालांकि सेहत विभाग और नगर निगम डेंगू रोकथाम के तमाम दावे कर रहा लेकिन हकीकत कुछ और ही है।

खबरें और भी हैं...