2019 के केस:जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत ने की सुनवाई, नशा करने से रोकने पर पीटकर पत्नी की कर दी थी हत्या, पति और मौसेरे भाई को उम्रकैद

होशियारपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
होशियारपु में भर्ती काजल, जिसकी पीजीआई में मौत हो गई थी। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
होशियारपु में भर्ती काजल, जिसकी पीजीआई में मौत हो गई थी। (फाइल फोटो)

माहिलपुर थाने के अधीन आते गांव घमियाला में 21 अप्रैल 2019 को नशा करने से रोकने पर सन्नी नाम के व्यक्ति ने अपने मौसेरे भाई सन्नी कुमार के साथ मिलकर 23 साल की पत्नी काजल की इतनी बेदर्दी से पिटाई कर दी थी कि इलाज के दौरान पीजीआई चंडीगढ़ में काजल की 5 मई 2019 को मौत हो गई थी।

इस मामले की सुनवाई वीरवार को अतिरिक्त जिला व सत्र न्यायाधीश नीलम अरोड़ा की अदालत में हुई। अदालत ने इस मामले में दोनों दोषियों सन्नी पुत्र सरवण राम निवासी बहराम (नवांशहर) और उसके मौसेरे भाई सन्नी कुमार पुत्र गुरमीत राम निवासी बीडीओ कालोनी माहिलपुर को उम्र कैद की सजा व 50-50 हजार रुपए नकद जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई। जुर्माना की अदायगी नहीं करने पर दोनों दोषियों को और 6-6 महीने कैद की सजा काटनी होगी।

मां ने दिया था बयान

काजल की मां राजरानी के बयान पर पुलिस ने काजल की मौत के बाद हत्या की धारा को जोड़ दिया था। काजल के 6 वर्षीय बेटे का बयान भी दर्ज किया गया था।

नशे का दंश-लड़कों को घर बुला नशा करता था आरोपी, सारा सामान भी बेच चुका था

21 अप्रैल 2019 को सिविल अस्पताल में जिंदगी व मौत से जूझ रही काजल के सामने उसके भाई सागर और मां राजरानी निवासी कहारपुर ने मीडिया को बताया था कि काजल की शादी 3 साल पहले गांव बहराम के राजमिस्त्री का काम करने वाले सन्नी से की थी। काजल की यह दूसरी शादी थी। पहले पति की मौत हो गई थी। पहली शादी से 6 साल का बेटा है जो उसके पास ही रहता है। शादी के बाद डेढ़ साल से सन्नी चिट्टे और शराब का आदी हो गया। काम पर जाना बंद कर दिया।

नशे की लत इतनी बढ़ गई कि अपने माता-पिता और काजल को पीटता था। इलाज के लिए उसे कई बार अस्पतालों में भर्ती करवाया पर नशा नहीं छोड़ा। कुछ ही महीनों में घर का सारा सामान नशे में उजाड़ दिया। नशे में सन्नी काजल को घर से बाहर निकाल देता और गांव में लड़कों को घर बुलाकर नशा करता। घटना वाले दिन 11 बजे सन्नी अपनी मौसी के लड़के सन्नी कुमार के साथ घर में बैठकर शराब व चिट्टे का नशा कर रहा था कि तभी काजल लोगों के घरों में काम कर लौटी। उसने सन्नी को कहा कि ऐसा कैसे काम चलेगा। घर में खाने के कुछ भी नहीं है, कल से वह और बच्चे भूखे है और आप दोस्तों के साथ महंगे नशे कर रहे हो। इसी बात से गुस्साए सन्नी ने अपने मौसी के बेटे सन्नी कुमार के साथ मिलकर काजल की इतनी पिटाई की कि वह गंभीर घायल हो गई।

लोगों के घरों में काम कर काजल चला रही थी घर

मृत काजल के परिजनों के अनुसार सन्नी जब काम पर नहीं जाता था तो उसने काजल व उसके पति सन्नी को अपने गांव के पास घमियाला में एक कमरा किराए पर लेकर दिया। उनको यहां रहने के लिए कहा, लेकिन काजल तो लोगों के घरों में मजदूरी कर अपने सहित बच्चे का पेट पालती लेकिन सन्नी के नशे और बढ़ गए। दोस्तों को घर में लाकर सारा दिन चिट्टा और शराब पीता था जिसका काजल विरोध करती थी। सन्नी में नशे के लिए घर का सारा सामान बेच दिया था।

खबरें और भी हैं...