प्रेरित किया:सरबत के भले की अरदास के साथ इकोत्री समागम आरंभ

टांडा उड़मुड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस दौरान करवाए जाने वाले अमृत संचार मौके बानी तथा बाने के साथ जुड़कर गुरु वाले बनने के लिए प्रेरित किया

श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व को समर्पित इकोत्री समागम पूर्ण गुरमर्यादा में सरबत के भले की अरदास के साथ आरंभ हुए। इस मौके देश-विदेश से हजारों की तादाद में संगत ने शिरकत की। तप अस्थान सचखंड वासी बाबा बलवंत सिंह टांडा में इकोत्री के आरंभता समागम मौके संगत जहां रात 2 बजे से ही बड़ी गिनती में जुड़नी शुरू हो गई। वहीं संगत के पूरे उत्साह में जो बोले सो निहाल के जैकारों में 101 श्री अखंड पाठ साहिब की पहली लड़ी आरंभ हुई।

इस मौके संत बाबा गुरदियाल सिंह ने संगत को गुरबानी शब्द विचारों के साथ जोड़ते हुए 23 दिन निरंतर चलने वाले इस आलौकिक गुरमति समागमों में हाजिरी भरने व इस दौरान करवाए जाने वाले अमृत संचार मौके बानी तथा बाने के साथ जुड़कर गुरु वाले बनने के लिए प्रेरित किया। समागम के पहले दिन सुबह 4 बजे से 7 बजे तक पहला गुरमति समागम करवाया, जिसमें संत बाबा गुरदियाल सिंह के अलावा बाबा जोग सिंह, बाबा गुरप्रीत सिंह मिर्ज़ापुर, बाबा हरजिंदर सिंह बराड़, बाबा जगदीप सिंह समेत अन्य कई संत महापुरुषों ने संगत को गुरबानी के साथ जोड़ा।

खबरें और भी हैं...