आंखों की संभाल के लिए किया जागरूक:विश्व दृष्टि दिवस पर सेहत विभाग ने संगोष्ठी का किया आयोजन

होशियारपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल में आयोजित संगोष्ठी में शामिल डॉक्टर और उपस्थिति - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल में आयोजित संगोष्ठी में शामिल डॉक्टर और उपस्थिति

स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रीय दृष्टिहीनता व दृष्टिबाधित कार्यक्रम युद्ध नियंत्रण कार्यक्रम के तहत ‘अपनी आंखों से प्यार करें’ विषय पर विश्व दृष्टि दिवस मनाया। इस दौरान सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. जसविंदर सिंह, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. संतोख राम, डॉ. प्रेम भारती, डॉ. मनदीप कौर, डाॅ. संजीव लुथरन, जिला मास मीडिया अधिकारी पुरुषोत्तम लाल, डिप्टी मास मीडिया अफसर तृप्ता देवी, रमणीक कौर और आई मोबाइल वैन का स्टाफ मौजूद था। डॉ. पवन कुमार ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व दृष्टि दिवस पर सेहत संस्थाओं में सफेद व काले मोतियाबिंद, डायबिटिक रेटिनोपेथी, कार्निया रोग, नेत्र जांच के लिए कैंप लगाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि 40 साल की उम्र के बाद समय-समय पर आंखों की जांच करवानी चाहिए ताकि आंखों की सही देखभाल की जा सके। इस मौके पर डॉ. संतोख राम ने लोगों को मृत्यु के बाद नेत्रदान करने के लिए जागरूक किया। उन्होंने कहा कि आंखें शरीर का जरूरी अंग हैं।

आंखों की रोशनी के लिए हमें ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा राष्ट्रीय दृष्टिहीनता निवारण कार्यक्रम के तहत कई मुफ्त सुविधाएं दी जा रही है। मोतियाबिंद सर्जरी के दौरान लेंस डलवाने और 40 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति को आंखों की जांच के बाद चश्मा देने की भी सुविधा है।

खबरें और भी हैं...