ये पहल अच्छी है, सभी आगे आएं:वैक्सीन लगाने से पहले मेडिकल छात्र करनवीर ने किया रक्तदान

होशियारपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड-19 महामारी के कारण इन दिनों बहुत कम रक्तदान कैंप लग पा रहे हैं। इंडियन सोसायटी ऑफ ब्लड ट्रांसफ्यूजन और इम्यूनो हिमेटोलॉजी (आईएसबीटीआई) और स्वयंसेवी संस्थाएं 18 से 45 वर्ष तक के लोगों को प्रेरित कर रही हैं कि वैक्सीनेशन से पहले रक्तदान करें, ताकि रक्त की कोई शॉर्टेज न हो। इसी कड़ी में मेडिकल काॅलेज पटियाला के छात्र करनवीर सिंह सुनेत ने वैक्सीन लगाने से पहले भाई कन्हैया चैरीटेबल ब्लड सेंटर में रक्तदान किया। आईएसबीटीआई के पंजाब चैप्टर के पैटर्न डाॅ. अजय बग्गा ने करनवीर सिंह को मेडल डालकर सम्मानित किया।

वैक्सीन लगवाने वाले 28 दिन बाद ही कर सकते रक्तदान : डॉ. अजय

डाॅ. अजय बग्गा ने कहा कि वैक्सीन लगवाने वाले 18 से 45 वर्ष के नौजवान वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने के 28 दिन बाद ही रक्तदान कर सकते हैं। इसी तरह पहली डोज और रक्तदान में करीब 2 माह से अधिक का समय लग सकता है। उन्होंने रक्तदानियों को अपील की कि देश में ब्लड सेंटर को रक्त की कमी का सामना न करना पड़े, इसलिए वैक्सीन लगवाने से पहले रक्तदान जरूर करें।

खबरें और भी हैं...