पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्या का मामला:दुष्कर्म के बाद जिंदा जला हत्या करने के बहुचर्चित मामले की अगली सुनवाई 2 को

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टांडा के साथ लगते एक गांव में 21 अक्टूबर 2020 को 6 वर्षीय बच्ची की दुष्कर्म के बाद जिंदा जलाकर हत्या करने के मामले की सुनवाई वीरवार को अतिरिक्त जिला व सत्र न्यायाधीश नीलम अरोड़ा की अदालत में हुई। मानवता को शर्मसार करने वाले इस मामले के मुख्य आरोपी मुख्य आरोपी सुरप्रीत सिंह पुत्र दिलविंदर सिंह अभी भी कपूरथला सिविल अस्पताल में उपचाराधीन है, इस वजह से उसकी पेशी नहीं हुई जबकि वारदात में सहयोगी रहा उसका दादा सुरजीत सिंह पुत्र काका सिंह जमानत पर है। अदालत ने दोनों पक्षों के वकीलों के दलीलें सुनने के बाद अगली सुनवाई 2 जून तय की है।

पीड़ित पक्ष की तरफ से इस मामले की पैरवी कर रहे वकील एडवोकेट नवीन जैरथ ने वीरवार को अदालत परिसर में कहा कि उन्होंने अदालत से मांग की कि आरोपी दादा व पोते का ट्रायल अदालत में अलग-अलग हो ताकी पीड़ित परिवार को न्याय मिलने में और देरी न हो सके। उन्होंने कहा कि उनके पास आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत है। मुख्य आरोपी सुरप्रीत सिंह का वारदात वाले दिन मानसिक संतुलन पूर्ण रूप से स्वस्थ था।

इस मामले में गवाहों के बयान व पुलिस की तरफ से पेश किए गए चालान के साथ-साथ सीसीटीवी फुटेज, फोरेंसिक रिपोर्ट, मेडिकल रिपोर्ट आदि भी इन तथ्यों को उजागर करता है कि वारदात के समय सुरप्रीत सिंह की मानसिक हालत बिल्कुल सही थी।

खबरें और भी हैं...