पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनाव:9449 में से आजाद उम्मीदवारों को 6753 तो पार्टियों को सिर्फ 2696 मत मिले

अजायब सिंह | बोपाराय गढ़शंकर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस को 2344,अकाली दल को 307 वोट पड़े

नगर कौंसिल गढ़शंकर के 12 वार्डों के 9449 वोटरों ने वोट डाले। इसमें से 6753 ने निर्दलीय को वोट दिए। सियासी पार्टियों के प्रत्याशियों को 2696 मत ही पड़े। इसमें से कांग्रेस को 2344, शिअद को 307, भाजपा को 27 व बसपा को 18 मत पड़े। कांग्रेस ने 10 वार्डों में, शिअद ने 7 वार्डों में, भाजपा ने दो वार्डों में तो बसपा ने एक वार्ड में चुनाव लड़ा।

वार्ड नंबर एक से बसपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष रछपाल राजू की पत्नी ने जीत दर्ज कर 374 मत प्राप्त किए। कई पार्टियों के नेताओं ने दूसरे वार्डों में निर्दलियों के पक्ष मत डलवाने की कोशिश की। सबसे बड़ी जीत वार्ड 11 में कांग्रेस की संजीव रानी को निर्दलीय जसविंदर कौर ने 304 मत से हराकर दर्ज की। वहीं, सबसे कम अंतर से निर्दलीय दीपक कुमार दीपा ने कांग्रेस के विनोद कुमार को तीन मत से हराया।

वार्ड 1 में कांग्रेस को हराने के लिए करीब पांच पार्टियां एकजुट हो गईं। कांग्रेस के कई नेताओं के अलावा जिस गुट ने वार्ड एक के प्रत्याशी को टिकट दिया था उस गुट के कई व्यक्ति भीतरघात करने से भी चूके नहीं। कांग्रेस के पूर्व विधायक लव कुमार गोल्डी के पक्ष के दो चुनाव चिन्ह पर तो तीन निर्दलीय जीते। पंकज कृपाल गुट में उनकी पत्नी सहित दो जीते तो निमिषा मेहता का एक चुनाव जीता। कांग्रेस के आठ पार्षद चुनाव जीत कर आए माने जा रहे हैं। लेकिन एक मंच पर सभी गुटों का आना बहुत मुश्किल है।

कांग्रेस की गुटबाजी के चलते जनता ने दिया खंडित जनादेश
अगर कांग्रेस गुटबाजी से ऊपर उठकर चुनाव लड़ती तो 10 से 11 सीटों पर जीत दर्ज कर सकती थी। कांग्रेस की गुटबाजी से गढ़शंकर में खंडित जनादेश जनता ने दिया। अब अध्यक्ष पद के लिए जोड़ तोड़ का खेल होगा। इसमें जीत किसके हाथ लगेगी। यह तो समय ही बताएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें