• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Hoshiarpur
  • Punjab State Ministerial Services Union's Kalamchhod Strike Continues For 7th Day; The Ministerial Staff Asked The State Government To Implement The Demands Agreed In The Table Talk

प्रदर्शन:पंजाब स्टेट मिनिस्ट्रियल सर्विसेस यूनियन की कलमछोड़ हड़ताल 7वें दिन भी जारी; मिनिस्ट्रियल स्टाफ ने सूबा सरकार से की टेबल टॉक में मानी मांगें लागू करने की मांग

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मिनी सचिवालय में अपनी मांगों को मनवाने संबंधी प्रदर्शन करते मिनिस्ट्रियल स्टाफ के पदाधिकारी व सदस्य। - Dainik Bhaskar
मिनी सचिवालय में अपनी मांगों को मनवाने संबंधी प्रदर्शन करते मिनिस्ट्रियल स्टाफ के पदाधिकारी व सदस्य।

पंजाब स्टेट मिनिस्ट्रियल सर्विसेस यूनियन सूबा समिति के आह्वान पर मिनिस्ट्रियल कर्मचारियों की तरफ से 7वें दिन वीरवार को भी कलमछोड़ हड़ताल रखी गई। जिले के खजाना विभाग, लोक निर्माण विभाग, बागवानी विभाग, सिविल सर्जन दफ्तर, डीसी दफ्तर, एसडीएम दफ्तर, कर और आबकारी विभाग, पशुपालन विभाग, ट्रांसपोर्ट विभाग, जन सेहत विभाग, वाटर सप्लाई सैनिटेशन, कृषि विभाग, जंगलात विभाग, सिंचाई विभाग, पॉलीटेक्निक विभाग, आईटीआई विभाग, जिला रोजगार दफ्तर, सरकारी काॅलेज, इंडस्ट्री विभाग, मछली पालन विभाग, भूमि रखा दफ्तर समेत 21 विभागों के कर्मी हड़ताल पर रहे।

मिनिस्ट्रियल कर्मचारियों की तरफ से अपने-अपने दफ्तरों के बाहर रैलियां कीं। सिंचाई विभाग दफ्तर के बाहर जसवीर सिंह धामी के नेतृत्व में रोष रैली की गई। इसमें सरकार के मुलाजिम विरोधी फैसलों की निंदा की गई। यूनियन के जिला प्रधान अनिरुद्ध मोदगिल और जिला जनरल सचिव जसवीर सिंह धामी ने कहा कि सरकार की तरफ से टेबल टॉक के दौरान जो मांगों मानें हैं, को लागू करने के लिए यह कर्मचारी संघर्ष कर रहे हैं।
प्रांतीय रैली में शामिल होंगे पससफ मुलाजिम
सूबे के मुलाजिमों की संघर्षशील संगठन पंजाब सबऑर्डिनेट सर्विसेस फेडरेशन (पससफ) की एक वर्चुअल मीटिंग सूबा प्रधान सतीश राणा की अध्यक्षता में आॅनलाइन हुई, जिसमें सूबा नेताओं की तरफ से बड़ी संख्या में शामिल हुए। मीटिंग में लखीमपुर खीरी में भाजपा के एक मंत्री के बेटे की कार द्वारा कुचले गए किसानों को श्रद्धांजलि भेंट की गई।

संगठन के जनरल सचिव तीर्थ सिंह ने बताया कि मीटिंग में पिछले किए एक्शनों का रिव्यू किया गया मीटिंग में फैसला लिया गया कि पंजाब-यूटी मुलाजिम और पेंशनर्स साझा फ्रंट की तरफ से मुख्यमंत्री के शहर मोरिंडा में लगाए जा रहे पक्के मोर्चे शुरू करने के लिए 16 अक्टूबर को की जा रही सूबा स्तरीय रैली में पससफ के बैनर तले मुलाजिमों की तरफ से सूबे से हजारों की संख्या में शमूलियत की जाएगी। इसमें सूबे से 400 से अधिक मुलाजिम पहुंचेंगे। मीटिंग में दर्शन सिंह, रामजीदास चौहान, करमजीत सिंह, सुखविन्दर चाहल आदि मौजूद रहे।

ये हैं कर्मियों की मांगें
मिनिस्ट्रियल कर्मियों की मुख्य मांगों में पे कमीशन की रिपोर्ट में संशोधन करना, 2004 के बाद भर्ती मुलाजिमों की पुरानी पेंशन बहाल करना, सेंटर पैटर्न और भर्ती हुए मुलाजिमों को पूरा स्केल देना और 1 जनवरी 2016 के बाद भर्ती हुए मुलाजिमों को पे कमीशन के तहत बनता पूरा लाभ देना, 23 दिसंबर 2011 के बाद भर्ती हुए मिनिस्ट्रियल मुलाजिमों के टाइप टेस्ट की था 120 घंटो की कंप्यूटर प्रशिक्षण लागू करना आदि शामिल है। उनकी तरफ से कहा गया कि यह संघर्ष 18 अक्तूबर, 2021 तक जारी रहेगा।

खबरें और भी हैं...