फीचर आर्टिकल:होशियारपुर की मंडियों में अब तक हुई 160481 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद, किसानों को 198.40 करोड़ रुपए की हो चुकी है सीधी अदायगी: अपनीत रियात

होशियारपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डिप्टी कमिश्नर ने किसानों को सूखी फसल मंडियों में लाने की अपील की। - Dainik Bhaskar
डिप्टी कमिश्नर ने किसानों को सूखी फसल मंडियों में लाने की अपील की।

डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने कहा कि जिले में अब तक अलग-अलग खरीद एजेंसियों की ओर से 160481 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है और मंडियों में आए गेहूं की साथ-साथ खरीद यकीनी बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को गेहूं की खरीद के 198.40 करोड़ रुपए सीधे उनके खातों में आनलाइन डाले जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि अब तक पनग्रेन की ओर से 36007 मीट्रिक टन, मार्कफेड की ओर से 38769 मीट्रिक टन, पनसप की ओर से 28425 मीट्रिक टन, पंजाब स्टेट वेयर हाउस कार्पोरेशन की ओर से 22586 मीट्रिक टन व एफ.सी.आई की ओर से 34684 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है।

डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि पनग्रेन की ओर से अब तक 50.55 करोड़, मार्कफेड की ओर से 62.24 करोड़, पनसप की ओर से 47 करोड़, पंजाब स्टेट वेयर हाउस कार्पोरेशन की ओर से 29.61 करोड़ व एफ.सी.आई की ओर से 9 करोड़ रुपए गेहूं की अदायगी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि खरीद किए गए गेहूं की लिफ्टिंग 72 घंटे के अंदर-अंदर यकीनी बनाई जा रही है।

अपनीत रियात ने कहा कि किसान गेहूं की कटाई सुबह 9 बजे से सांय 7 बजे तक ही करें। उन्होंने कहा कि यदि उक्त समय से पहले या बाद में कटाई की जाती हैं, तो संबंधितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने किसानों को अपील करते हुए वे मंडियों में सूखा कर ही गेहूं लाएं। उन्होंने कहा कि किसान गेहूं की नाड़ को आग न लगाएं, बल्कि इसका खेत में ही प्रबंधन किया जाए। उन्होंने कहा कि नाड़ व अवशेष को आग लगाने से जहां वातावरण दूषित होता है, वहीं जमीन की उपजाऊ शक्ति भी कम होती है।

खबरें और भी हैं...