च्छता सर्वेक्षण:स्वकेंद्रीय शहरी आवास मंत्रालय ने स्वच्छता के 7वें सर्वेक्षण-2022 की गाइडलाइन की जारी, 2021 में 138वें नंबर पर रही थी जिले की रैंकिंग

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार सफाई कर्मियों की सुरक्षा व वैक्सीनेशन के आधार पर जुड़ेंगे नंबर

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 में होशियारपुर जिले की रैंकिंग देश में 138वें व प्रदेश में 7वें नंबर पर रही है। नगर निगम का दावा है कि अगले साल इसमें और सुधार करेंगे। इस बीच 2022 के स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए पहली बार केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने पहले ही गाइडलाइन जारी कर दी हैं। 2016 में होशियारपुर का रैंक देश में 447वां रहा था। वहीं 2017 में 323वां, 2018 में 151वां रैंक आने के बाद 2019 में 234वां व 2020 में 246 वां रैंक आया। इसमें सुधार कर 2021 में 138वां रैंक रहा। ऐसे में स्वच्छ भारत अभियान 2021 के नतीजे को देखते हुए अब नगर निगम होशियारपुर को मिशन 2022 के लिए अभी से कमर कसनी होगी। मिशन 2022 में स्वच्छता सर्वेक्षण के मानकों में बदलाव किया गया है। अंकों में 1500 की बढ़ोतरी की गई है।

अब 6000 की बजाय 7500 अंकों पर शहर को मापा जाएगा। इसमें जनता की भागीदारी को बढ़ाया गया है। सिटीजन फीडबैक का समय भी बढ़ाया गया है। इसके लिए फरवरी 2022 में सर्वे होगा। सर्वे में पहली बार कोरोना काल में सफाई मुलाजिमों की सुरक्षा और उनके वैक्सीनेशन से जुड़े सवालों के जवाब के आधार पर अंक तय किए जाएंगे। पिछले सर्वेक्षण में सर्विस लेवल प्रोग्रेस के दो हजार अंक निर्धारित किए गए थे। इस बार उसे बढ़ाकर तीन हजार कर दिया गया है। इसमें प्लास्टिक व पाॅलीथिन पर प्रतिबंध, गीला-सूखा कूड़ा अलग-अलग उठने की व्यवस्था, कूड़े का बेहतर निस्तारण, सीवरेज की सफाई शामिल है। पहली बार सफाई मित्र सुरक्षा को भी जोड़ा है। शहर में सफाई का काम मैनुअल तरीके से किया जा रहा है या मशीनों के जरिए, सफाई कर्मचारी सुरक्षा उपकरणों से लैस हैं या नहीं, सफाई मित्रों का वैक्सीनेशन हुआ है या नहीं। इन सभी सेवाओं के आधार पर कुल 3000 अंक सर्विस लेवल प्रोग्रेस के रखे गए हैं।

खबरें और भी हैं...