पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेलवे मंत्रालय से मिला ग्रीन सिग्नल:ट्रेन ऑन ट्रैक, 14 महीनों के बाद पटरी पर दौड़ेगी होशियारपुर-दिल्ली एक्सप्रेस

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश से बचाव के लिए शेड का निर्माण किया जाना है। - Dainik Bhaskar
बारिश से बचाव के लिए शेड का निर्माण किया जाना है।
  • 21 जून से ट्रेन होशियारपुर स्टेशन से चलेगी, जल्द मथुरा तक चलाने के लिए विभाग कर रहा है तैयारी

कोरोना के मामलों में सुधार होते देख रेलवे मंत्रालय ने मार्च 2020 से बंद होशियारपुर-दिल्ली के बीच चलने वाली इकलौती एक्सप्रेस रेलगाड़ी को 21 जून से चलाने की मंजूरी दे दी है। रेलवे ने पहले इस रेलगाड़ी को एक जुलाई से चलाने की योजना बना रखी थी।

इस बात की पुष्टि केंद्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने की है। मंत्री सोम प्रकाश की इस घोषणा से शहरवासियों में खुशी है। लोगों की खुशी की एक वजह यह भी है कि संतनगरी व छोटी काशी नाम से मशहूर होशियारपुर वासियों को अब लगता है कि होशियारपुर से मथुरा के रास्ते वृंदावन तक जाने का सपना भी अब जल्द पूरा होने वाला है।

यह होगी ट्रेन की नई टाइमिंग

रेलवे बोर्ड की जारी सूचना के अनुसार होशियारपुर रेलवे स्टेशन से यह रेलगाड़ी 21 जून को रात 10 बजकर 25 मिनट पर और जालंधर से 11 बजकर 45 मिनट पर रवाना होकर फगवाड़ा साढ़े 12, लुधियाना रात 1 बजे, अंबाला 4 बजे और दिल्ली सुबह 7 बजकर 35 मिनट पर पहुंचेगी।

इसी तरह पुरानी दिल्ली स्टेशन से 22 जून को सायं 5 बजकर 25 मिनट पर रवाना होकर अंबाला साढ़े 8, लुधियाना 11 बजकर 35 मिनट, फगवाड़ा 12 बजकर 4 मिनट, जालंधर 12 बजकर 40 मिनट व होशियारपुर रात 2 बजकर 10 मिनट पर पहुंचा करेगी। रेलवे बोर्ड की जारी सूचना के अनुसार यह रेलगाड़ी अगली सूचना तक इसी समय पर दोनों ही तरफ से चला करेगी।

कोरोना काल में स्टेशन के विस्तार के लिए विभाग कर चुका है तैयारी

रेलवे के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार होशियारपुर रेलवे स्टेशन के विस्तार के लिए रेलवे कोरोना काल में तैयारी कर ली है। योजना के अनुसार मालगोदाम में सुधार व स्टेशन पर खड़ी होने वाली रेलगाड़ी के 24 कोच के लिए प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ाई जाएगी ताकी यात्री को खासकर रात के समय गाड़ी पर सवार होने के लिए परेशानी न हो। बारिश से बचाव के लिए शेड का निर्माण किया जाना है।

स्टेशन पर यात्रियों के बैठने के लिए बैंच, पीने के पानी की सुविधा, दिव्यांग यात्रियों के लिए रैंप का निर्माण, व्हीलचेयर की व्यवस्था व शौचालय का प्रबंध के साथ साथ रेलवे स्टाफ के क्वार्टर व रेलवे अपनी जमीन अवैध कब्जाधारियों से छुड़ा बाउंडरी वाल भी तैयार करेगी।

यात्रियों को मजबूरी में करना पड़ता है बस में सफर

होशियारपुर जिले में होशियारपुर-जालंधर और जेंजो-जालंधर के बीच जालंधर से पठानकोट, नकोदर, नवांशहर, होशियारपुर जेजों, फिरोजपुर, कपूरथला आदि के लिए पैसेंजर ट्रेनों का संचालन किया जाता है जोकि कोविड-19 के चलते 14 महीनों से बंद है।

इस वजह से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली में किसान आंदोलन की वजह से रोडवेज की बसें भी दिल्ली तक न जाने से लोग भारी भरकम रकम अदा कर टैक्सी से दिल्ली का सफर कर रहे हैं। होशियारपुर से दिल्ली तक रात के समय में ही सफर पूरा हो जाने व काफी कम किराया खर्च होने की वजह से यहां के यात्रियों के साथ-साथ व्यापारियों की भी पहली पसंद यही रेलगाड़ी है।

ट्रेन को मथुरा तक चलाने का अभी विभाग से नहीं मिला है निर्देश : डीआरएम अग्रवाल

डिवीजनल रेलवे मैनेजर राजेश अग्रवाल का कहना है कि होशियारपुर-दिल्ली एक्सप्रेस रेलगाड़ी होशियारपुर से दिल्ली के बीच तो चलेगी पर अभी तक इस रेलगाड़ी को मथुरा तक चलाने का फिलहाल उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है। दिल्ली तक चलाने की योजना को रेलवे विभाग की ओर से अंतिम रूप दिया गया है। यह रेलगाड़ी जल्द ही पहले की तरह पटरी पर चलने लगेगी।

खबरें और भी हैं...