पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डॉक्टरों ने महाराणा प्रताप चौक किया जाम:आज से खुले में बैठ करेंगे चेकअप, मांगें न मानने पर इमरजेंसी व कोरोना सेवाएं ठप करने की दी चेतावनी

होशियारपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एनपीए में कटौती के खिलाफ महाराणा प्रताप चौक में ट्रैफिक जाम कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ। - Dainik Bhaskar
एनपीए में कटौती के खिलाफ महाराणा प्रताप चौक में ट्रैफिक जाम कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ।
  • छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के विरोध में डॉक्टरों ने पंजाब सरकार के खिलाफ निकाला रोष मार्च

छठे वेतन आयोग की सिफारिशों में नॉन प्रैक्टिस अलाउंस में कटौती के खिलाफ तीसरे दिन बुधवार को भी सरकारी डॉक्टरों ने हड़ताल को तेज कर पैदल रोष मार्च निकाल विरोध जताया। दोपहर 12 बजे के करीब सिविल अस्पताल से निकल महाराणा प्रताप चौक तक पैदल रोष मार्च निकाल सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए चौक पर कुछ देर के लिए चक्का जाम किया। तीसरे दिन डाक्टरों के समर्थन में मेडिकल स्टाफ ने भी भरपूर समर्थन दिया जिसकी वजह से दूर-दूर से आए मरीजों को भारी परेशानियां झेलनी पड़ीं।

वहीं, इमरजेंसी में भी आरोपियों के मेडिकल करवाने के लिए पुलिस को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हड़ताल की वजह से मरीजों का इलाज न होने पर वापस लौटना पड़ा। उन्हें न दवा मिली न ही टेस्ट हुए। गर्मी में इधर-उधर भटकते रहे। एनपीए में कटौती के खिलाफ पूरे पंजाब में चल रहे डॉक्टरों व मेडिकल स्टाफ के हड़ताल पर चले जाने को लेकर चंडीगढ़ में पीसीएमएस के पदाधिकारियों व वित्त मंत्र के बीच बैठक का आयोजन है।

नाराज डॉक्टरों डॉ. मनमोहन सिंह, डॉ.उपकार सिंह सूच, डॉ. शामसुंदर शर्मा, डॉ. जसविन्द्र सिंह समेत तमाम डॉक्टरों ने कहा कि यदि सरकार ने मांग नहीं मानी तो वीरवार से डॉक्टर खुले में बैठकर ओपीडी करेंगे। मरीजों की जांच कर सेवाएं मुहैया करवाएंगे। सरकार ने मांगें नहीं मानी तो इमरजेंसी सेवाएं और कोरोना से संबंधित सभी कार्य ठप करने की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि विपरीत हालातों में भी काम करने की वजह से डॉक्टरों के एनपीए में कटौती को वापस लेने की जायज मांग है।

खबरें और भी हैं...