पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनिश्चितकाल धरने:गांव मसाणियां में पंचायती जमीन के ठेके की बोली दोबारा करवाने की मांग, प्रदर्शन

कादियां15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गांव मसाणियां में पंचायती जमीन के ठेके की हुई बोली को रद्द करवाने की मांग को लेकर पेंडू मजदूर यूनियन पंजाब जिला गुरदासपुर की ओर से पंचायती जमीन पर लगाए अनिश्चितकाल धरने के 28वें दिन रविवार को दलित भाइचारे के लोगों ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। यूनियन के प्रांतीय नेता राज कुमार पंडोरी, सुरिंदरपाल सिंह, लाडी सिंह, जयमल सिंह, गुरमीत कौर, चरणजीत कौर, गोगी, अरिफान, कुलविंदर कौर, राज रानी और मंजू सहित ने कहा कि गांव मसाणिया की पंचायती जमीन के ठेके की बोली को रद्द करके नियम के अनुसार दोबारा बोली करवाई जाए।

इस पंचायती जमीन में से दलित भाइचारे की बनती तीसरी हिस्से की जमीन को लेकर संघर्ष शुरू किया गया था। यूनियन नेता इकबाल सिंह ने कहा कि अब डीसी की अाेर से यूनियन को की गई बोली के मामले की जांच करवाने के विश्वास देने के बाद दलित भाइचारे को इंसाफ मिलने की उम्मीद है तथा हम उम्मीद रखते हैं कि मामले की सही जांच करके पंचायती जमीन की हुई बोली को रद्द करके दोबारा करवाकर हमें इंसाफ दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जब तक जांच करवाकर बोली को रद्द करके दोबारा नहीं की जाती, तब तक यह धरना जारी रहेगा। इस माैके पर मेजर सिंह, इकबाल सिंह, जरनैल सिंह, बचन सिंह, लाभ सिंह, रवि यूसफ, सरदारी लाल, धरमिंदर सिंह, काबल सिंह, गुरमीत कौर, चरणजीत कौर, राज कौर, शिंदर, कंवलजीत कौर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...