क्रोध / श्रम कानून में संशोधन के विरोध में रोष प्रदर्शन

Fury protests against amendment in labor law
X
Fury protests against amendment in labor law

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:01 AM IST

कादियां. पंजाब रोडवेज पनबस कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन की ओर से राज्य जनरल सचिव बलजीत सिंह गिल और राज्य सलाहकार परमजीत सिंह कोहाड़ की अगुवाई में मांगों को लेकर रोडवेज डिपो में नारेबाजी की गई। इस दौरान राज्य जनरल सचिव बलजीत सिंह ने बताया कि श्रम कानूनों में किए जा रहे मजदूर विरोधी फैसले वापस लिए जाए, सरकारी आदेश रद्द किए जाएं, अलग-अलग राज्य सरकारों की ओर से काम का समय रोजाना 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे करने का किया नोटिफिकेशन वापस लिया जाए, कम से कम उजरत 21 हजार रुपए प्रति महीना की जाए।

इस दौरान चेयरमैन रजिंदर सिंह और प्रधान प्रदीप कुमार ने कहा कि निकाले किए मुलाजिमों को बहाल किया जाए, बराबर काम बराबर वेतन का कानून लागू किया जाए, पनबसों को स्टाफ समेत रोडवेज में मर्ज किया जाए, नई बसें डाली जाएं, रोडवेज पनबस विभाग में चलती किलोमीटर बसें बंद की जाएं, नई किलोमीटर बसें न डाली जाएं। इस मौके पर सरपरस्त रछपाल संह, परमिंदर सिंह, जगदीप सिंह, जगरूप सिंह, अवतार सिंह, टहल सिंह, राजबीर सिंह, हरपाल सिंह आदि मौजूद थे।

वहीं, कादियां में पंजाब रोडवेज के वर्करों ने मांगों को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ रोष जताया। इस मौके पर गुरजीत सिंह घोड़ेवाह ने कहा कि केंद्र सरकार कोरोना की आड़ में श्रम कानूनों में संशोधन करने जा रही है, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर सरकार ने मनमानी की तो श्रम वर्ग जबरदस्त संघर्ष करेगा। इसके अलावा जो केंद्र सरकार इंप्लाइज और पेंशनरों का महंगाई भत्ता जाम कर रही है, उसका भी वह विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार जो खजाना खाली का शोर मचाकर मुलाजिमों और पेंशनरों को दबाना चाहती है, उसका भी वह विरोध करते हैं। जबकि दूसरी ओर सरकार के विधायक, एमपीज को जो बढ़-चढ़ कर सुविधाएं दी जा रही हैं, वह बंद की जानी चाहिए। इस मौके पर मलकीत सिंह, इकबाल सिंह, रणजोत सिंह, मलबीर सिंह, सुखविंदर सिंह, रणजीत सिंह, इंद्रजीत सिंह, नरिंदर मौजूद थे।

बिजली एक्ट के खिलाफ काले बिल्ले लगाकर की रोष रैली

पावरकॉम की बहरामपुर सब डिवीजन में टेक्निकल सर्विसेस यूनियन और एटक ने काले बिल्ले लगाकर रैली की। इसकी अध्यक्षता इंजीनियर नरबीर सिंह प्रधान टीएसयू ने की। रैली में मंडल प्रधान संजीव कुमार सैनी और बलविंदर सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार बिजली एक्ट 2020 पास करने जा रही है और बिजली एक्ट 2003 में संशोधन किया जा रहा है। इसके अनुसार ड्यूटी का समय 8 घंटे की बजाय 12 घंटे किया जा रहा है। बिजली रियायतों को भी बंद कर बिजली कंट्रोल केंद्र सरकार अपने हाथ में लेने जा रही है। इसके अलावा कई अन्य मुलाजिम विरोधी फैसले लेने जा रही है। वक्ताओं ने चेतावनी दी कि अगर बिजली एक्ट 2020 को वापस न लिया गया तो मुलाजिमों द्वारा संघर्ष किया जाएगा। रैली में संजीव शर्मा सचिव, सतीश कुमार प्रधान, विजय कुमार, कश्मीर सिंह, अश्वनी कुमार, गुरमुख सिंह, रजिंदर सिंह मौजूद रहे।    

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना