पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धान पानी में:बारिश से खीरांवाली और भवानीपुर समेत 4 गांवों में 500 एकड़ धान की फसल डूबी, दूसरे दिन भी निकासी नहीं, किसान चिंतित

कपूरथला2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कई दिनों की गर्मी के बारिश से तो मौसम भारी बदलाव आ गया है। लेकिन एक दिन बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। कपूरथला में मंगलवार को लगभग 70 एमएम बारिश हुई। इससे कपूरथला के आसपास के गांवों में किसानों को चिंता होने लगी है। क्योंकि यह गांव खीरांवाली व भवानीपुर व आसपास के हैं। जहां पर लगभग 500 एकड़ धान की फसल पानी भरने से पूरी तरह डूब गई है। पानी जमा रहा तो धान खराब होने की संभावना है।

लेकिन खेतीबाड़ी विभाग का कहना है कि पानी उतर रहा है, अभी कोई खतरा नहीं है। मंगलवार को पंजाब भर में खूब बारिश हुई। अकेले कपूरथला में 70 एमएम बारिश हुई। खेतीबाड़ी विभाग के अनुसार इस बारिश से जिले के गांव खीरांवाली व भवानीपुर समेत 4 गांवों की लगभग 500 एकड़ में पानी भरा है।

धान की फसल डूबी हुई है। दो दिन से पानी खेतों में भरा है। यदि पानी दो दिन और भरा रहा तो फसल के लिए खतरा हो सकता है। वहीं, खेतीबाड़ी अधिकारी अश्वनी कुमार का कहना है कि जिले में कई गांवों में खेतों में बारिश का पानी जरूर भरा है। मगर इसका कोई नुकसान नहीं है। गांव खीरांवाली व भवानीपुर व आस पास के लगभग 4-5 गांवों के 500 के करीब एकड़ बारिश के पानी से भरे हैं। पानी एक दो दिन में उतर जाएगा। इससे धान का कोई नुकसान नहीं है। पानी उतर रहा है।

कृषि विभाग की सलाह
किसान धान की फसल में ज्यादा पानी खड़ा न होने दें, निकासी का प्रबंध करें
उधर, खेतीबाड़ी अधिकारी अश्वनी कुमार ने कहा कि बारिश धान की फसल के लिए अच्छी है। इससे अभी धान को कोई नुकसान नहीं हो रहा है। पर निचले इलाकों में लगाए गए धान पर कुछ ध्यान देने की जरूरत है। किसानों को चाहिए कि वह जहां धान के खेत में ज्यादा पानी है और फसल के पत्ते पानी में डूबे हुए हैं, वहां से पानी दूसरे खेतों को निकाल दें ताकि फसल डूबने से खराब न हो। वहीं, मौसम विभाग के अनुसार इस हफ्ते में अभी बारिश के आसार बने हुए हैं।

खबरें और भी हैं...