पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दशहरा:मस्जिद चौक में दशहरा देखने के लिए 800 लोग इकट्‌ठे हुए, एक घंटा पहले 5 बजे ही जलाया दशानन का पुतला

कपूरथलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • देवी तालाब मंदिर में सादे ढंग से किया रावण दहन, मस्जिद चौक में रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले जलाए
  • डीसी के आदेश का उल्लंघन. मेला लगा, मस्जिद चौक के आसपास खिलौनों की दुकानें सजीं

बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा पर्व रविवार को मनाया गया। कोविड-19 के चलते जिला प्रशासन की ओर से शहर में दो जगह देवी तालाब मंदिर और मस्जिद चौक में पंजाब सरकार की हिदायत पर दशहरा पर्व मनाने की इजाजत दी गई थी। भीड़ ज्यादा न हो, इसके लिए सुबह से ही पुलिस प्रशासन की ओर से पुलिस तैनात की हुई थी।

शाम होते ही मस्जिद चौक में दशहरा पर्व को देखने के लिए करीब 800 लोग इकट्‌ठे हो गए। अचानक मौके पर डीसी का काफिला मस्जिद चौक की तरफ राउंड लगाने के लिए पहुंचा। लोग दशहरा पर्व का आनंद ले रहे थे कि दशहरा कमेटी आयोजकों की ओर से रावण, कुंभकर्ण, मेघनाद के पुतलों को अग्नि भेंट कर दिया गया।

दूसरी तरफ श्री प्रताप धर्म प्रचारणी सभा रामलीला दशहरा कमेटी की ओर से देवी तालाब के खुले प्रांगण में सादे ढंग से दशहरा पर्व मनाया गया। श्रीराम की सेना का रावण की सेना के साथ युद्ध दिखाया और रावण पर विजय हासिल कर रावण दहन किया गया।

श्री प्रताप धर्म प्रचारणी सभा रामलीला दशहरा कमेटी की ओर से आयोजित कार्यक्रम सभा के प्रधान विनोद कालिया की अध्यक्षता में देवी तालाब ग्राउंड में दशहरा पर्व समारोह का उद्घाटन जिला योजना बोर्ड के चेयरमैन और कांग्रेसी नेता अनूप कल्हन ने किया। दूसरी ओर श्रीराम लीला धर्म कमेटी मस्जिद चौक में मार्केट कमेटी के उप-चेयरमेन राजिंदर कौड़ा, पूर्व पार्षद नरिंदर मनसू, दविंदरपाल सिंह रंगा ने रावण दहन किया।

30 फीट का बना रावण का पुतला, एसपी (ट्रैफिक) और डीएसपी ने आरती की

वहीं, मस्जिद चौक में मनाए जा रहे दशहरे पर्व देखने के लिए लगभग 800 के करीब लोग एकत्रित हो गए। यहां रावण का पुतला 30 फीट का बनाया गया था। कोविड-19 की आदेश को अनदेखा कर आसपास की दुकानें भी खिलौनों से सज गईं। शाम सवा चार बजे के करीब दशहरा कमेटी की ओर से मौके पर एसपी (ट्रैफिक) और डीएसपी सतनाम सिंह की ओर से आरती करवाकर दशहरा पर्व की रस्म अदा की गई।

इसके बाद कांग्रेसी नेताओं ने हाजिरी लगवाई और दशहरा पर्व देखने आए सभी धर्मों के लोगों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि दशहरा पर्व सर्वधर्म सांझीवालता का प्रतीक है। अभी रामलीला शुरू हुई थी और श्रीराम और रावण के बीच युद्ध शुरू हुआ ही था कि अचानक आयोजक कमेटी की ओर से कांग्रेसी नेताओं के हाथों रावण के पुतलों को अग्निभेंट करवा दी गई। शाम पांच बजे से पहले ही रावण दहन कर दिया गया। हालांकि पिछली बार रावण दहन का समय 6 बजे था। रावण दहन 6 बजे के बाद किया गया था।

जिला प्रशासन ने सादे ढंग से दशहरा पर्व मनाने के दिए थे आदेश : कालिया
श्री प्रताप धर्म प्रचारणी राम लीला दशहरा कमेटी ने कोविड-19 के निर्देश के चलते जिला और पुलिस प्रशासन की ओर से दी गई हिदायत का पालन करते हुए दशहरा पर्व मनाकर दशकों से चली आ रही परंपरा को जीवित रखा। सभाध्यक्ष विनोद कालिया ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते सभा ने 16 अक्चूबर को सुर्यवंशी घ्वजारोहण कर 25 अक्टूबर को संकेतक दशहरा मनाया। उन्होने कहा कि हर साल 90 फीट ऊंचे रावण, कुभंकरण और मेघ्नाद के तीन पुतले जलाए जाते थे, इस साल सिर्फ रावण का 22 फीट ऊंचा रावन का पुतला ही जलाया।

पर्यावरण को बचाने के लिए इस बार पुतले में पटाखे भी नहीं लगाए गए। इस मौके पर राजेश सूरी, कृष्ण लाल सर्राफ, राजिंदर वर्मा, एडवोकेट पवन कालिया, मंगल सिंह सेखों, विंशंवर दास, हरवंत सिंह भंडारी, बलजिंदर सिंह, सतीश शर्मा, गुलशन लुंबा, दिवंदर कािलया, अशोक बब्बल, पवन लुंबा, कमलजीत सिंह ने शिरकत की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें