पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रेल कोच फैक्टरी:जूनियर इंजीनियरों के कार्यकाल के 33 साल पूरे होने पर समारोह

कपूरथलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

रेल कोच फैक्टरी में जिन इंजीनियरों ने 6 जुलाई 1987 को बतौर ऑप्रेंटिस जूनियर इंजीनियर के तीसरे बैच में ज्वाइन किया था। पिछले दिनों अपनी रेल सेवा की यात्रा के 33 साल पूरे होने पर समारोह का आयोजन किया। आरसीएफ में कार्यरत उच्चाधिकारियों और कर्मचारियों ने सभी को मुबारकबाद दी।  बैच में कुल 24 इंजीनियरों ने ज्वाइन किया था, जिनमें से 2 साथी इंजीनियर मोहिंदर सिंह एवं राजपाल सिंह अपना-अपना कार्यकाल पूरा करके सेवानिवृत हो चुके हैं और 2 इंजीनियर अनिल कुमार शर्मा और राजेश कुमार खन्ना की कार्यकाल के दौरान मृत्यु हो गई थी एवं कुछ साथी समय-समय पर रेडिका से अपने आवेदन पर स्थारानंत्रण होकर विभिन-2 रेलवे में जा चुके हैं।

वर्तमान में इस बैच के 10 सीनियर सेक्शन इंजीनियर कार्यरत हैं। कार्यक्रम के शुरुआत में इंजीनियर जीत सिंह रेडिका के फर्निशिंग डिवीजन में सीनियर सेक्शन के तौर पर कार्यरत हैं। जीत सिंह ने कहा कि इंजीनियर बृजमोहन साल 2003 से 2014 तक लगातार पांच बार इंजीनियर एवं कर्मचारियों की कैटेगरी के संविधानिक तौर पर सदस्य स्टाफ काउंसिल चुने गए थे और दो बार स्टाफ काउंसिल के ज्वाइंट सेक्रेटरी भी रह चुके हैं।

जुलाई 1989 में दो साल की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद बतौर रेगुलर जेई 2 के पद पर पोस्ट कर दिया गया, इसके बाद 8 अगस्त 1992 को इनके पूरे बैच को जेई 1 के पद पर पदोन्नत कर दिया गया । अगस्त 1993 में सैक्शन इंजीनियर के पद पर पदोन्नत कर दिए गए ।

इसके बाद इस बैच के सभी इंजीनियरों को सीनियर सैक्शन इंजी (मैके) आरसीएफ के विभिन्न विभिन्न सीनियरिटी ग्रुपों में पदोन्नत किया गया । इंजी. बृजमोहन ने सभी के स्वस्थ व उज्जव भविष्य की कामना की व एक बार फिर से बधाई दी । इस समारोह में जीत सिंह, जसपाल सिंह, ओम प्रकाश बडियाल, अजय कुमार, अमरजीत चन्द्र, अनूप सिंह, जगबीर सिंह, कुलभूषण गुप्ता एवं इंजी. अनिल कुमार तोमर मौजूद थे। 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement