पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आदेश की अनदेखी:धान के अवशेष को आग लगाने का सिलसिला जारी, किसान बोले-जिले में पराली से बिजली बनाने वाले प्लांट लगाए जाएं

सुल्तानपुर लोधी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार और जिला प्रशासन के आदेशों की अनदेखी करके सुल्तानपुर लोधी क्षेत्र में कुछ किसानों की ओर से धान की नाड़ को आग लगाना जारी है। अगर पराली को आग लगाने की घटनाएं इसी तरह जारी रही तो जिन किसानों ने महंगी मशीनरी, बेशक वह 80 प्रतिशत या 50 प्रतिशत सबसिडी पर इन सीटू स्कीम तहत प्राप्त की है, वह सब बेकार हो जाएगी।

किसान कश्मीर सिंह, फुम्मन सिंह, जगीर सिंह, राजवीर सिंह आदि ने बताया कि पूरे पंजाब में करीब 3 प्लांट ऐसे है, जहां पराली से बिजली बनाई जाती है लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए किसान को एक ट्राली का खर्च 5 हजार रुपए पड़ता है।

इस कारण किसान इस जिम्मेदारी से भागता है और कुछ किसान खेतों में पराली को आग लगाने को पहल देते हैं। उन्होंने मांग की कि सरकार हरेक जिले में पराली से बिजली बनाने का एक प्लांट स्थापित करे ताकि किसान कम खर्च पर अपने खेतों से निकलने वाली पराली को वहां ले जाकर बेच सके और पराली को आग ना लगाए।

वहीं, इस संबंधी ब्लाॅक खेतीबाड़ी अधिकारी जसबीर सिंह से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि खेतीबाड़ी विभाग की ओर से समय-समय पर किसानों को पराली ना जलाने के बारे में जागरूक किया जाता है। पराली जलाने से होने वाले नुकसान के बारे भी किसानों को जानकारी दी जाती है।

मगर फिर भी क्षेत्र में कुछ किसानों की ओर से खेतों में पराली जलाने की घटनाओं पर निगरानी रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि एसडीएम डाॅ. चारुमति के निर्देश पर हलाक सुल्तानपुर लोधी के सभी ब्लाॅकों में पराली जलाने की घटनाओं पर निगरानी रखने के लए 11 कोआर्डिनेटर और 91 नाेडल अफसर लगाए गए जो सेटेलाइट के जरिए धान के अवशेषों को आग की घटना बारे जानकारी एकत्रित करते है और पटवारी द्वारा चालान काटे जाते है।

उन्होंने बताया कि किसानों को लगाए गए जुर्माने जमा करवाने की हिदायतें जारी की जाती है। अगर कोई किसान जुर्माना जमा नहीं करवाता तो प्रदूषण बोर्ड अपनी बनती कार्रवाई करता है। एसडीएम डा. चारुमति ने कहा अब तक सेटेलाइट द्वारा प्राप्त हुए तकरीबन 20 केसों में से 3 केसों में जुर्माना जमा करवाया गया है। पराली को आग लगाने के मामलों पर भी बनती कार्रवाई जल्द की जा रही है। उन्होंने किसानों को अपील की कि पराली को आग ना लगाई जाए।

खबरें और भी हैं...