पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:कोरोना से हुई मौतों पर डीसी बोलीं- मरने वालों में 90% मरीज कैंसर, हार्ट, किडनी रोग से पीड़ित थे

कपूरथला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में मृत्यु दर 4.3%, डेढ़ महीने में 38 ने दम तोड़ा
  • अक्टूबर में 25 मरीजों ने दम तोड़ा, नवंबर में 14 दिन में ही कोरोना संक्रमित 13 लोगों की मौत

कपूरथला मृत्यु दर में देश का पांचवां जिला बन गया है। अब तक 181 मरीज दम तोड़ चुके है। डीसी दीप्ति उप्पल खुद एसएमओ से कई बार बैठक कर उन्हें मृत्यु दर बढ़ने का कारण जानने के आदेश दे चुकी है। आंकड़े बताते हैं कि सितंबर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या और मृत्यु दर दोनों का ग्राफ अधिक था। अक्टूबर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तो कम हो गई लेकिन मृत्यु दर और बढ़ गई। अक्टूबर महीने में 25 मरीजों ने दम तोड़ा है। नवंबर में पहले तीन दिन तो कोई मौत नहीं हुई लेकिन 4 नवंबर से 17 नवंबर तक 14 दिन में ही 13 मौतें हुईं हैं। कपूरथला का मृत्यु दर आंकड़ा 4.3% हो गया है। सेहत विभाग का कहना है कि जहां नए कोरोना संक्रमित मरीज कम आ रहे हैं। डीसी दीप्ति उप्पल ने कहा कि जहां मृत्यु दर अधिक है, उनका कारण यह भी है कि ज्यादातर मरीज प्राइवेट में चले जाते हैं। कपूरथला से भी ज्यादातर मृतक मरीज जालंधर आदि में दाखिल थे। जहां 90 प्रतिशत कोरोना से मरने वाले कैंसर, हार्ट आदि बीमारियों से पीड़ित थे।

पहले कपूरथला सूबे में पहले स्थान पर था, अब तक हुईं 181 मौतें

अक्टूबर महीने में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा 25 तक पहुंचा था। हर दिन एक से दो मौतें होती रहीं। नवंबर में पहले 3 दिन तो कोई मौत नही हुई। लेकिन 4 नवंबर के बाद से लगातार मौतें होती आ रही हैं। 17 नवंबर तक 14 दिन में 13 मौतें हुई है। 11 नवंबर को एक ही दिन तीन मौतें हुईं थीं।

कपूरथला मृत्यु दर में देश का पांचवां जिला बन गया है। यहां मृत्यु दर 4.3% है जबकि पहले स्थान पर रोपड़ जिला है। जहां मृत्यु दर 5.1% है। दूसरे स्थान पर फतेहगढ़ साहिब है, जहां मृत्यु दर 4.7% है। तीसरे स्थान पर तरनतारन है, जहां मृत्यु दर 4.6% है। चौथे स्थान पर संगरूर है, जहां मृत्यु दर 4.3% है। सितंबर में कपूरथला की मृत्यु दर 4.83% थी, जो पंजाब में सबसे अधिक थी। अब कम होने की जगह और बढ़ गई है। जिला देश के पांचवें स्थान पर है। सितंबर में लुधियाना की मृत्यु दर 4.28%, थी, संगरूर की 4%, फतेहगढ़ साहिब की 3.98% और अमृतसर की 3.85% मृत्यु दर थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें