पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये है ठगों का सचिन, लाखों रुपए हड़प चुका:ऑक्सीजन व वैक्सीन दिलाने का झांसा दे कई ठगे, दिल्ली से भागा, कपूरथला में काबू, 10 साल से थी तलाश, अब तक 25 को ठग चुका

कपूरथला14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की हिरासत में ठग सचिन ग्रोवर। - Dainik Bhaskar
पुलिस की हिरासत में ठग सचिन ग्रोवर।
  • अदालत से भगौड़ा घोषित आरोपी पुलिस के चढ़ा हत्थे, दिल्ली में ठगी के 4 मामलों में है नामजद

काले लिबास से छिपा ये व्यक्ति ठगी का सचिन है। गत 10 साल से इसने कई तरीके से अलग-अलग लोगों को धोखाधड़ी का शिकार बनाया। जानकारी के मुताबिक अब तक करीब 25 विभिन्न मामलों में नामजद आरोपी को कोर्ट भगौड़ा भी घोषित कर चुकी है। दिल्ली में जब ऑक्सीजन और वैक्सीन के नाम पर हजारों रुपए ठगने का मामला सामने आया तो दिल्ली पुलिस अलर्ट हो गई। इसपर केस दर्ज होने पर आरोपी सचिन पंजाब भाग आया, जिसे कपूरथला पुलिस ने दर-दबोचा।

ठग इतना शातिर है कि मॉडलिंग और मेकअप आर्टिस्ट के नाम पर युवाओं से भी लाखों रुपए ऐंठ चुका है। मामले की परतें जैसे-जैसे खुलती गईं तो पकड़े गए ठग पर और भी अन्य मामलें की लिस्ट लंबी होनी शुरू हो गई। आरोपी ने कबूल कि कि उसने कांग्रेस के जाने-माने नेता का बेटा से भी इंग्लैंड भेजने के नाम पर लाखों रुपए हड़प चुका है।

इंम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमैन के बेटे हरवंत भंडारी को इंग्लैंड भेजने का झांसा देकर लाखों रुपए ठगे

थाना सिटी एसएचओ ने बताया कि सचिन को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। सब-डिवीजन डीएसपी सुरिंदर सिंह ने बताया कि स्पीड रिकॉर्डिंग कंपनी के डायरेक्टर दिनेश औलख ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसकी स्पीड रिकॉर्डिंग कंपनी का कार्यालय कपूरथला, जालंधर और मोहाली में स्थित है। पिछले एक साल ने सचिन ग्रोवर, जो मोहल्ला कायमपुरा, हाल निवासी सैफरन एन्क्लेव तथा उसका दूसरा पता दिल्ली डीडीओ फ्लैट शिवाजी एन्क्लेव न्यू दिल्ली है। युवक स्पीड रिकॉर्डिंग का नाम का इस्तेमाल कर युवाओं से शूटिंग में मेकअप आर्टिस्ट और मॉडलिंग के नाम पर रुपए की मांग करता था। लोग उसकी बातों में आकर अकाउंट में रुपए भेज देते थे। सचिन ग्रोवर बाद में अपना मोबाइल बंद कर देता था। ठग ने कांग्रेस के इंम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमेन स्वर्गीय कुलवंत भंडारी के बेटे हरवंत भंडारी को इंग्लैंड भेजने के नाम पर लाखों रुपए ठगे हैं।

ऑक्सीजन व वैक्सीन के नाम पर ठगी करने का प्रूफ, चैट का स्क्रीन शॉट।
ऑक्सीजन व वैक्सीन के नाम पर ठगी करने का प्रूफ, चैट का स्क्रीन शॉट।

स्पीड रिकॉर्डिंग के डायरेक्टर दिनेश औलख ने बताया कि सचिन ग्रोवर उनकी कंपनी का नाम यूज कर सोशल मीजिया पर ग्रुप बनाता था। युवाओं को फोन कर कहता था कि नेहा कक्कड़, गुरु रंधावा के गीतों की शूटिंग गोवा में होनी है। इसके लिए मेकअप आर्टिस्ट और मॉडलिंग के लिए लड़के-लड़कियों की जरूरत है। जब युवक युवतियां उसकी बातों में आ जाते तो वह उनसे स्पीड रिकॉर्डिंग के नाम पर रुपए की मांग करता था। उन्हें झांसा दिया जाता था कि आप लोगों को 70 से 80 हजार रुपए काम के बदले में दिए जाएंगे।

शूटिंग के लिए एयर टिकट के पैसे मांगता था

शूटिंग के लिए हवाई टिकटों के रुपए भी मांग करता और उनसे कहता था कि जब वह गोवा पहुंच जाएंगे तो उनकी टिकट के रुपए रिफंड कर दिए जाएंगे। वह युवाओं से रुपए एयरटेल पेमेंट बैंक के जरिए मंगवाता था। जैसे ही रुपए उसके अकाउंट में आते तो ठग सचिन अपना फोन बंद कर देता था। लोग स्पीड रिकार्डिंग का पता कर उनके पास पहुंच जाते थे। न्होंने खुद मामले की छानबीन की तो पता चला कि सचिन ने कई युवाओं से ठगी की हुई थी।

ऑक्सीजन सिलेंडर की होम डिलीवरी के 10500 और कोरोना वैक्सीन के 4500 रुपए मांगता था

दिनेश ने बताया कि पिछले कुछ दिन से दिल्ली में आक्सीजन और वैक्सीन की किल्लत का भी फायदा ठग सचिन ग्रोवर ने उठाया। जब उनकों किसी से पता चला कि सचिन ऑक्सीजन और वैक्सीन जरूरी चीजों के नाम पर लोगों से रुपए वसूल रहा है पर न तो ऑक्सीजन सिलेंडर और न ही वैक्सीन उपलब्ध करवा रहा है। उन्होंने सचिन के साथ व्हाट्सएप पर चैट की। उन्होंने ऑक्सीजन सिलेंडर और वैक्सीन की मांग की तो सचिन ने ऑक्सीजन सिलेंडर के 10 हजार 500 रुपए मांगें और सिलेंडर की होम डिलीवरी की बात कही। वैक्सीन के नाम पर 4500 रुपए मांगे। दिनेश औलख ने दिल्ली में रहने वाले किसी परिचित का पता बताया। जब सचिन उनके झांसे में आ गया तो उन्होंने दिल्ली पुलिस को उसकी शिकायत की। सचिन ग्रोवर पंजाब भाग आया। दिनेश औलख ने बताया कि दिल्ली में भी उसपर ठगी के 4 केस दर्ज हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें