पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Kapurthala
  • Plants Planted On The Occasion Of Shatabdi Samagam In Village Nawanpind Are Now Buried Under The Rubble Of Thatch, The Sarpanch Said A Playground Has To Be Made, More Saplings Will Be Planted

सूरत-ए-हाल:गांव नवांपिंड में शताब्दी समागम के मौके लगाए पौधे अब छप्पड़ के मलबे के नीचे दबे, सरपंच बोले-खेल मैदान बनाना है, पौधे और लगा देंगे

कपूरथला20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गांव से बाहर जीटी रोड पर आधा एकड़ में लगाए गए थे 100-150 पौधे, अब पौधे टूटने पर सरपंच ने कहा-मता पास किया
  • ग्रामीण विकास व पंचायत विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर बोले-पौधों का नुकसान करना सही नहीं है, बीडीपीओ से पता करवा रहे हैं

2019 में गुरु नानक देव जी के 550वें शताब्दी समागम के मौके पर पंजाब सरकार ने हर गांव में 550 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा था। कई गांवों में 550 पौधों की एक साथ नर्सरी भी बनाई गई थी। जहां तरह-तरह के पौधे लगाए गए थे। ऐसा ही गांव नवां पिंड में हुआ। जहां गांव से बाहर जीटी रोड पर आधा एकड़ में 100-150 पौधे लगाए गए थे। गांव ने छप्पड़ की सफाई कर वहां मलबा फेंकना शुरू कर दिया। मलबे के ढेरों में कई पौधे नीचे दब रहे हैं।

गांव के सरपंच का मानना है कि जहां हमने शताब्दी के मौके पर 100-150 पौधे लगाए थे, यहां गांव के स्कूल की ग्राउंड है। अब चारदिवारी बनाकर खेल मैदान बनाना है। पौधे बाद में और लगा देंगे। साल 2019 में श्री गुरु नानक देव जी का 550वां शताब्दी समागम था। पंजाब सरकार ने समागम को गांवों में हरियाली लाने के लक्ष्य से लिया था।

सुल्तानपुर लोधी को जाती सभी सड़कों पर तरह-तरह के पौधे लगाए थे। ऐसे ही कपूरथला से सुल्तानपुर लोधी को जाती वाया फत्तूढींगा सड़क के किनारे गांव नवां पिंड (गेट वाला) ने लगभग आधा एकड़ में 100-150 से अधिक पौधे लगाए थे। छप्पड़ का मलबा फेंकने से अधिकतर पौधे नीचे दब गए हैं, कई टूट गए है। गांववासियों ने इसे लेकर किसी से आज्ञा ली है या नही, यह कोई बताने को तैयार नही है।

गांव के सरपंच कुलदीप सिंह ने कहा कि पंचायत ने मता डाल कर इसे मंजूर कर दिया है। अब हमने चारदिवारी बनानी है। इलिए वहां पर छप्पड़ की सफाई कर निकाला गया मलबा फेंका जा रहा है। इधर ग्रामीण विकास व पंचायत विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर अवतार सिंह भुल्लर ने कहा कि यह पौधे समागम के मौके पर लगाए गए थे। इनका नुकसान करना सही नहीं है। बीडीपीओ से पता करवा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...