भगवान की मूर्तियां खंडित करने पर कपूरथला-जालंधर मार्ग जाम:पुलिस ने रूट वन-वे कर ट्रैफिक सुचारू किया, पुलिस के आश्वासन पर डेढ़ घंटे बाद उठाया धरना

कपूरथला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धार्मिक संगठनों के साथ बातचीत करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
धार्मिक संगठनों के साथ बातचीत करती पुलिस।

कपूरथला-जालंधर रोड पर दोपहर के समय धार्मिक संगठनों के नेताओं और सदस्यों ने भगवान की मूर्तियां खंडित होने के रोष में सड़क जाम लगाकर प्रदर्शन किया। सड़क जाम की सूचना मिलते ही सबडिवीजन डीएसपी सुरिंदर सिंह और थाना सिटी के एसएचओ गौरव धीर पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। धार्मिक संगठनों के नेताओं ने भगवान की मूर्तियां खंडित करने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। नेताओं ने शिकायत पत्र भी मौके पर पुलिस को सौंपा।

धार्मिक संगठनों के नेताओं ने पुलिस को सौंपा शिकायत पत्र
पुलिस ने लगभग डेढ़ घंटे बाद मामले की जांच करवाने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया गया। सबडिवीजन डीएसपी ने कहा कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। नेताओं ने पुलिस को जल्द से जल्द आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए कहा है। बता दें कि बुधवार को जालंधर-कपूरथला रोड पर गांव मंसूरवाल दोनां के पास लाखों रुपए की जमीन के मामले में पुलिस तथा राजस्व विभाग ने जमीन के मालिक को पोजेशन दिलवाया था। इस दौरान कई वर्षों से इस जमीन के आगे बैठे मूर्तिकारों की झोपड़ियां और मूर्तियां जेसीबी से हटा दीं। मूर्तियां बनाने वालों ने उस समय तो घबराहट के कारण कुछ नहीं बोले। बाद में उन्हें पता चला कि कब्जा छुड़ाने आए लोगों ने भगवान की मूर्तियां भी खंडित कर दी हैं।

वीरवार को जैसे ही धार्मिक मूर्तियां खंडित होने की बात धार्मिक संगठनों को पता चली तो उन्होंने दोपहर 12 बजे के करीब कपूरथला-जालंधर रोड मार्ग पर खंडित मूर्तियां रखकर प्रदर्शन किया और सड़क जाम कर दी। सड़क जाम होने से ट्रैफिक भी प्रभावित हुई। मौके पर पुलिस प्रशासन भी पहुंच गया और ट्रैफिक को वन-वे कर बहाल करवाया। प्रदर्शन कर रहे धार्मिक नेताओं ने सिटी एसएचओ गौरव धीर को आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए शिकायत पत्र भी दिया। सबडिवीजन डीएसपी सुरिंदर सिंह का कहना है कि मामला धार्मिक आस्था से जुड़ा हुआ है। जांच की जा रही है। इस दौरान जो भी आरोपी पाया गया, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...