पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आरसीएफ का कोच उत्पादन में तेजी से विकास:आरसीएफ ने 160 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड वाला डबल डेकर कोच बनाया

कपूरथला14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 120 सीटों वाले कोच में यात्रियों को आरामदायक यात्रा के लिए चौड़ा गलियारा, ओवरहेड खुला सामान का रैक, मोबाइल व लैपटॉप चार्जिंग सॉकेट की सुविधा मिलेगी

कोविड संकट के बीच जहां पूरी दुनिया में औद्योगिक विकास में तेजी से गिरावट देखी जा रही है, वहीं आरसीएफ ने अपने कोच उत्पादन में तेजी से विकास किया है जो आरसीएफ की जनशक्ति की दृढ़ता और समर्पण के कारण है। आरसीएफ ने लॉकडाउन के बीच 24 अप्रैल से दोबारा काम शुरू होने पर पोस्ट कोविड कोच, पार्सल कोचों का हल्का संस्करण के अलावा अन्य बहुत तरह के डिब्बों का निर्माण किया है। अब आरसीएफ ने 160 किलोमीटर प्रति घंटे और अन्य विशेष सुविधाओं के साथ चलने में सक्षम सेमी हाई स्पीड डबल डेकर कोच का निर्माण किया है। बदलते परिदृश्य में भारतीय रेलवे में पटरियों और सिग्नलिंग प्रणाली के तेजी से अपग्रेड होने के साथ उच्च गति और अधिकतर बैठने की क्षमता वाले कोचों का उत्पादन करना आवश्यक हो गया है।

यह डबल डेकर विशेष रूप से व्यस्त मार्गों के लिए हैं और यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के अलावा यात्रा को सुखद व आरामदायक बनाने के लिए कई सुविधाओं उपलब्ध है। इस डबल डेकर कोच में 120 सीटें हैं। इस डबल डेकर कोच में 120 सीटें हैं। ऊपरी डेकर में 50 जबकि निचले डेकर में 48 सीटें हैं और मध्य में 16 और 6 सीटें हैं । इसमें पर्याप्त लेगरूम के साथ 3x2 फॉर्मेट में बैठने की सुविधा है। आरामदायक यात्रा के लिए अनुकूलित चौड़ा गलियारा, खूबसूरत अंदरूनी दृश्य, ओवरहेड खुला सामान का रैक, खिड़कियों के साथ मोबाइल और लैपटॉप चार्जिंग सॉकेट, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली, ऑनबोर्ड वाई-फाई और अन्य यात्री केंद्र सुविधाओं के साथ एलईडी गंतव्य बोर्ड इसकी विशेष सुविधाएं हैं।

यात्री क्षेत्र में प्रवेश स्वचालित स्लाइडिंग दरवाजे के माध्यम से पहुंचने योग्य है। यात्रियों की सुविधाओं के लिए प्रत्येक कोच में मिनी पैंट्री की व्यवस्था भी की गई है। कोच में 160 केएन (160 किलो न्यूटन) के एयर स्प्रिंग्स के साथ एफआईएटी बोगी के रूप में अत्याधुनिक सस्पेंशन सिस्टम है जो यात्रियों के लिए सुगम और सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करेगा। सुरक्षित यात्रा के लिए सीसीटीवी कैमरे और फायर एंड स्मोक डिटेक्शन सिस्टम लगाया गया है।

ट्रायल के लिए लखनऊ भेजा जाएगा कोच
बता दें कि भारतीय रेलवे में डबल डेकर कोचों के उत्पादन के लिए आरसीएफ पहली और एकमात्र उत्पादन इकाई है। प्रारंभ में आरसीएफ ने पारंपरिक प्लेटफॉर्म पर नॉन एसी डबल डेकर का निर्माण किया और मार्च 2010 में 130 किलोमीटर प्रति घंटे की गति क्षमता वाला पहला एसी डबल डेकर का निर्माण किया था। इसके बाद मार्च 2019 में अतिरिक्त सुविधाओं के साथ उदय डबल डेकर कोचों को तैयार किया गया। 160 किमी प्रति घंटे की गति क्षमता वाला डबल डेकर कोच बुध‌वार को आरसीएफ के जनरल मैनेजर रविंदर गुप्ता की मौजूदगी में रवाना किया गया। कोच को आगे के प्रशिक्षण के लिए अनुसंधान एवं डिजाइन मानक संगठन (आरडीएसओ लखनऊ) भेजा जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें