पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अच्छे संकेत:86 दिन बाद साइंस सिटी खुली, वर्चुअल वॉक प्रोजेक्ट शुरू होने के आसार पर्यटकों को जंगल, रेगीस्तान, बर्फ के पहाड़ और बारिश का दिखेगा नजारा

कपूरथलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महामारी घटने से साइंस सिटी में पयर्टकों का फिर से होगा आगमन, कोविड नियमों का ध्यान रखना भी होगा जरूरी

कोविड काल के 86 दिन बाद साइंस सिटी को पयर्टकों के लिए खोल दी गई है। इसे कोविड संकट में 24 मार्च को बंद किया गया था। अब साइंस सिटी में आने वाले पयर्टकों को कोविड नियमों का ध्यान रखना जरूरी होगा। दाखिल होते ही स्क्रीनिंग होगी। किसी को बुखार, खांसी आदि की शिकायत तो नहीं है, बकायदा इसका हर विजिटर को ब्यौरा देना जरूरी होगा। साइंस सिटी में अब तक 47 लाख से अधिक विजिटर और स्टूडेंट विजिट कर चुके हैं। साइंस सिटी में वर्चुअल वॉक की तैयारियां चल रही हैं। जहां कभी जंगल, रेगिस्तान, कभी बर्फ के पहाड़, कभी बारिश का नजारा देखने को मिलेगा। प्रोजेक्ट को केंद्र सरकार से हरी झंडी मिल चुकी है। इसपर 8 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। कोरोना घटने से अब इस प्रोजेक्ट शुरू होने की उम्मीद है।
अब कोई भी कर पाएगा मंगल ग्रह पर वॉक,…8 करोड़ रुपए से तैयार होगा प्रोजेक्ट
आप यदि मंगल ग्रह को देखना चाहते हैं, मंगल ग्रह पर घूमने चाहते हैं, तो घर बैठे ही आपका यह सपना पूरा हो सकता है। साइंस सिटी में वर्चुअल वॉक तैयार होगी, जहां आप को घूमते-घूमते अलग-अलग जलवायु का तर्जुबा होगा। जैसे कभी जंगल, कभी रेगिस्तान, कभी बर्फ के पहाड़ और कभी बारिश का नजारा देखने को मिलेगा।

यह बड़ी-बड़ी स्क्रीन से तैयार हुए वर्चुअल वॉक से देखने को मिलेगा। यहां आकर आप महसूस करेंगे जैसे मंगल ग्रह पर अलग-अलग जलवायु का आनंद उठा रहे हों। सच में बारिश का पानी भी आप पर गिरेगा। जल्द ही आप इसका लुत्फ ले सकते हैं। प्रोजेक्ट पर 8 करोड़ रुपए खर्च होंगे। भारत सरकार ने इसे मंजूरी दे दी है।

खबरें और भी हैं...