खुदकुशी:बेटा युवती को भगा ले गया, पत्नी को जेल हो गई, पति ने फंदा लगा दी जान

कपूरथला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मृतक की पहचान 55 वर्षीय दर्शन लाल पुत्र बाल किशन निवासी गांव दयालपुर के रूप में हुई

जालंधर-अमृतसर मार्ग से सटे गांव दयालपुर थाना सुभानपुर निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति ने मानसिक परेशानी के चलते घर में गार्डर से फंदा लगाकर जान दे दी। थाना सुभानपुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कपूरथला के सिविल अस्पताल में रखवा दिया है। मृतक की पत्नी जेल में है। मृतक का अन्य वारस सामने न आने के कारण पुलिस को मृतक की पत्नी जो जेल में बंद है के पेरोल पर छुट्टी पर आने के बाद कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। मृतक की पहचान 55 वर्षीय दर्शन लाल पुत्र बाल किशन निवासी गांव दयालपुर के रूप में हुई है।

थाना सुभानपुर के एसआई गुरजसवंत सिंह ने बताया कि उन्हें गांव दयालपुर के सरपंच ने फोन पर सूचना दी कि गांव में एक बंद घर से दुर्गंध आ रही है। घर के मालिक को दो दिन से नहीं देखा है। वह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और पड़ोसी युवक राजिंद्र कुमार के साथ, जिसके चाचा के घर से दुर्गंध आ रही थी को साथ लेकर छत्त के रास्ते घर में दाखिल हुए। दर्शन लाल का शव गार्डर से लटक रहा था। सरपंच और गांववासियों की मदद से शव को नीचे उतारा। जांच में यह बात सामने आई है कि मृतक का इकलौता बेटा है, जो निजी फैक्टरी में काम करता था। वह जालंधर निवासी नाबालिग को तीन महीने पहले भगाकर ले गया है। उसका और नाबालिगा का अभी तक पुलिस को कोई सुराग नहीं लगा है। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज है। पुलिस जांच अधिकारी गुरजसवंत सिंह ने बताया कि मृतक की पत्नी की रिहाई तक शव को कपूरथला के सिविल अस्पताल में रखवाया गया है।

खबरें और भी हैं...