पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:कीरतपुर साहिब जाने को 5 गांवों के लिए नहर पर मात्र 3 फीट की पुलिया, 2 लोगों का इकट्ठे निकलना भी मुश्किल

कीरतपुर साहिब9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाखड़ा नहर पर बनी 65 साल पुरानी 3 फीट पुलिया से लोग परेशान

धार्मिक नगरी कीरतपुर साहिब में पुराने बस स्टैंड के करीब भाखड़ा नहर पर लगभग साढे 6 दशक पहले कीरतपुर साहिब, कल्याणपुर, जिओवाल, भटोली एवं भगवाला सहित पांच गांवों को जोड़ने वाली छोटी पुली को विभाग द्वारा चौड़ा न किए जाने के कारण राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि दोपहिया वाहनों के गुजरते वक्त पैदल चलने वाले राहगीर बहुत मुश्किल से उक्त तंग पुली में से गुजर पाते हैं।

भाखड़ा नहर के निर्माण के वक्त पुराना बस स्टैंड कीरतपुर साहिब एवं भाखड़ा नहर की दूसरी तरफ पड़ते गांवों को आपस में जोड़ने के लिए एवं धार्मिक नगरी कीरतपुर साहिब के गुरुघरों गुरुद्वारा चरण कंवल साहिब, गुरुद्वारा शीश महल साहिब, गुरुद्वारा हरमंदिर साहिब के दर्शनों के लिए आने वाली संगतों की सुविधा के लिए मात्र 3 फीट की पुलिया का निर्माण करवाया गया था। लगभग 65 वर्ष बीत जाने के बाद यातायात के साधन बढ़ने के चलते यह छोटी पुली आज के समय के अनुकूल नहीं रही है। बीबीएमबी या पंजाब सरकार द्वारा न तो पुली की मरम्मत करवाई गई और न लोगों की मांग के अनुसार इसे चौड़ा करवाया गया। उक्त पुली के माध्यम से कीरतपुर साहिब क्षेत्र के अलग-अलग गांवों के लोग पुराना बस स्टैंड कीरतपुर साहिब, रेलवे स्टेशन, सब्जी मंडी, हिमाचल प्रदेश बस स्टैंड सहित अलग-अलग बैंकों के लिए आते-जाते हैं। इसलिए स्थानीय लोगों की लंबे समय से मांग रही है कि उक्त पुली को कम से कम चार पहिया वाहनों के गुजरने योग्य बनाया जाए।

ऊपर से विभाग द्वारा उक्त छोटी पुली के अंदर दोनों साइडों से लोहे के बड़े-बड़े पाइप गुजारे गए हैं।जिनके कारण यह पुली और ज्यादा तंग हो गई है। पुली के दोनों साइड पड़े लोहे के इन पाइपों के कारण राहगीरों के पांव इनसे टकराते हैं और हर वक्त चोट लगने का खतरा बना रहता है।

मुख्यमंत्री ने किया था पुल बनाने का ऐलान
बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने आनंदपुर साहिब के दौरे के दौरान हलका विधायक एवं विधानसभा स्पीकर राणा केपी सिंह के प्रयासों के चलते कीरतपुर साहिब में भाखड़ा नहर पर एक बड़े पुल के निर्माण का ऐलान किया था लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी उक्त पुल का निर्माण शुरू नहीं हो पाया है। इसलिए स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह एवं हल्का विधायक पंजाब विधानसभा स्पीकर राणा केपी सिंह से नए पुल के निर्माण को जल्दी शुरू करवाने की मांग की है।

लॉकडाउन के चलते फंड नहीं मिला : एसडीओ
इस संबंध में पीडब्ल्यूडी विभाग के एसडीओ ब्रह्मजीत ने बताया कि बड़े पुल के निर्माण के लिए 7 करोड़ का बजट रखा गया है लेकिन कोरोना वायरस महामारी के चलते लगे लॉकडाउन के कारण समय पर फंड रिलीज न होने के चलते उक्त नए पुल का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें