पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ढींडसा बोले:महामारी से लोगों की सुरक्षा करने में असफल रही प्रदेश सरकार

कीरतपुर साहिब21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बातचीत करते पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींडसा। - Dainik Bhaskar
बातचीत करते पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींडसा।
  • कहा- प्रदेश सरकार के बताए आंकड़ों से 4 गुना अधिक लोगों की हुई मौत

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में पंजाब सरकार कोरोना वायरस महामारी के दौरान प्रदेश के लोगों की सुरक्षा करने में पूरी तरह से असफल साबित हुई है। सरकार ने न तो महामारी को फैलने से रोकने के लिए सक्षम प्रबंध किए गए और न ही महामारी फैलने के बाद लोगों को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। ये बातें पूर्व वित्त मंत्री पंजाब परमिंदर सिंह ढींडसा ने कीरतपुर साहिब में पत्रकारों के साथ बातचीत में कही। वह यहां एक करीबी रिश्तेदार की अस्थियां विसर्जित करने गुरुद्वारा पातालपुरी साहिब पहुंचे थे।

उन्होंने कहा कि आपदा के इस दौर में प्रदेश सरकार के इंतजाम पूरी तरह से असफल रहे हैं। जितनी संख्या में लोग गुरुद्वारा पातालपुरी साहिब के करीब सतलुज दरिया में अपने परिजनों की अस्थियां विसर्जित करने के लिए पहुंच रहे हैं उससे साफ जाहिर होता है कि महामारी के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में किस कदर लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जहां लोगों के लिए वैक्सीन मुहैया करवाने में पूरी तरह से नाकाम दिख रही है, वहीं ऑक्सीजन तक उपलब्ध न करवाना सरकार का एक मेजर फेलियर है।

उन्होंने कहा कि महामारी की दूसरी लहर आने से पहले सरकार के पास पर्याप्त समय था। इस दौरान सरकार ने कुछ नहीं किया लेकिन अब प्रदेश सरकार को महामारी की तीसरी लहर आने से पहले उचित प्रबंध करने चाहिएं और वैक्सीनेशन में भी तेजी लाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा महामारी से मरने वाले लोगों के जो आंकड़े बताए जा रहे हैं, उसके मुकाबले असली संख्या करीब 4 गुना ज्यादा है। इस मौके कंवरजीत सिंह संधू, सुरजीत सिंह चैहड़ मजारा, कुलवीर सिंह भटोली, मनप्रीत सिंह भठ्ठल मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...