पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोष व्यक्त किया:रेलवे स्टेशन कीरतपुर साहिब के करीब फिर से उतारी राख लोगों की सीएम से मांग- फ्लाई ऐश उतारने पर लगे पाबंदी

कीरतपुर साहिब4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गत 17 अगस्त को रेलवे स्टेशन कीरतपुर साहिब के करीब बने प्लेटफार्म पर सीमेंट कंपनी की फ्लाई ऐश (राख) उतारे जाने के कारण होने वाले प्रदूषण से आसपास के लोगों एवं दुकानदारों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी थी और लोगों ने रोष व्यक्त किया था। तब एसीसी सीमेंट कंपनी के डंप इंचार्ज बीके व्यास ने कहा था कि उनके द्वारा फ्लाई ऐश का केवल ट्रायल रैक ही मंगवाया गया है। इसके बाद और रैक नहीं मंगवाया जाएगा। इसके बावजूद 11 सितंबर की रात को उक्त सीमेंट कंपनी द्वारा दोबारा फ्लाई ऐश का रैक मंगवाया गया।

12 सितंबर दोपहर से पहले इस राख को पोकलेन मशीनों द्वारा मालगाड़ी के डिब्बों से उतारा गया और 12 सितंबर दोपहर से लेकर पूरी रात इसे टिप्परों में भरकर कंपनी के स्थानीय डंप में स्टोर किया गया। गनीमत रही कि इन 2 दिनों के दौरान रुक-रुक कर बारिश पड़ने के चलते राख गीली हो गई और लोगों को प्रदूषण की ज्यादा मार नहीं झेलनी पड़ी।

स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री पंजाब एवं डिप्टी कमिश्नर रूपनगर से मांग की गई है कि ऐतिहासिक नगरी कीरतपुर साहिब के धार्मिक महत्व को देखते हुए आसपास के लोगों अौर श्रद्धालुओं की सेहत का ध्यान रखते हुए रेलवे स्टेशन कीरतपुर साहिब के करीब फ्लाई ऐश (राख) एवं जिप्सम उतारने पर पाबंदी लगाई जाए।

क्योंकि उससे होने वाला प्रदूषण बुजुर्गों एवं छोटे बच्चों में सांस की बीमारियों के साथ-साथ आंखों एवं चमड़ी के रोगों का कारण बन रहा है।इस संबंध में जब एसीसी सीमेंट कंपनी के डंप इंचार्ज बीके व्यास के साथ बात की तो उन्होंने कहा कि इस बार फ्लाई ऐश नहीं बल्कि 20 फीसदी मॉयश्चर के साथ जिप्सम मंगवाई गई थी। इससे किसी को कोई नुकसान होना असंभव है।

खबरें और भी हैं...