पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसानों का आक्रोश बना हुआ है:एफसीआई ने नौशहरा पत्तन में कोटा पूरा बता बंद की गेहूं खरीद, किसान बोले-अभी 8 हजार बोरी मंडी में पड़ीं

मुकेरियां8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एफसीआई की तरफ से मंडी में गेहूं की खरीद बंद करने के विरोध में प्रदर्शन करते किसान। - Dainik Bhaskar
एफसीआई की तरफ से मंडी में गेहूं की खरीद बंद करने के विरोध में प्रदर्शन करते किसान।
  • गेहूं की खरीद शुरू न होने पर एफसीआई व एसडीएम दफ्तर के आगे धरने की चेतावनी

केंद्रीय खरीद एजेंसी एफसीआई ने मुकेरियां की 25 मंडियों में से नाैशहरा पत्तन मंडी में निर्धारित कोटा पूरा होने का दावा करते हुए गेहूं की खरीद बंद कर दी है। इस फैसले का विरोध जताते हुए किसानों ने प्रदर्शन किया और चेतावनी दी कि यदि मंडी में तुरंत खरीद शुरू न की तो एफसीआई दफ्तर और एसडीएम दफ्तर के आगे रोष प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे। नौशहरा मंडी के आढ़ती सरबजोत सिंह साबी, सुरिंदर सिंह, जसविन्दर सिंह, ठेकेदार चरण दास, लखवीर सिंह आहलूवालिया, करनैल सिंह ने बताया कि केंद्रीय खरीद एजेंसी की तरफ से मंडी में 27 अप्रैल को खरीद बंद कर दी गई थी।

लेकिन, आढ़तियाें की तरफ से विरोध करने पर फिर 1 और 2 मई को कुछ खरीद करके मुकम्मल खरीद कर अब पूरी तरह से बंद कर दी है। इलाको के किसानों का कहना है कि अपमानित हो रहे हैं और करीब 8 हजार बोरी का माल अभी खरीद के लिए पड़ा है। किसान निर्मल सिंह, गुरनाम सिंह, बलकार सिंह आदि ने बताया कि सरकार और प्रशासन मंडियों में शुरू से ही कम बारदाने और लिफ्टिंग समेत अदायगी की समस्या प्रति कभी गंभीरता नहीं दिखाई। कोई भी खरीद एजेंसी मंडी में फसल के खात्मे तक खरीद बंद नहीं कर सकती, लेकिन केंद्रीय खरीद एजेंसी के अधिकारियों आगे प्रशासन बौना साबित हो रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि नोशहरा मंडी में खरीद शुरू न हुई तो वह एफसीआई दफ़्तर और एसडीएम दफ़्तर आगे धरना देने के लिए मजबूर होंगे।

मार्केट कमेटी के सचिव व एफसीआई इंस्पेक्टर बोले-

गेहूं की खरीद बंद करने के बारे में मार्केट समिति के सचिव बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि मसला उच्च अधिकारियों और एफसीआई के ध्यान में लाया गया है, लेकिन अभी हल नहीं हो रहा। एफसीआई के इंस्पेक्टर शंकर लाल ने कहा कि वह निर्धारित कोटे से अधिक गेहूं खरीद चुके हैं और इससे अधिक खरीद नहीं कर सकते, इसलिए खरीद बंद कर दी गई है। इस संबंधी डीएफएससी रजनीश कौर को फोन किया तो उन फोन अटेंड नहीं किया।

जिले में इस बार 1 लाख 42 हजार हेक्टेयर में बोई गई है गेहूं की फसल

बताते चलें कि जिला होशिययारपुर में इस बार 1 लाख 42 हजार हेक्टेयर में गेहूं की फसल का रकबा है। समय-समय पर बारिश होने से गेहूं की पैदावार अच्छी है। हालांकि कंडी के कई क्षेत्रों में जहां सिंचाई की सुविधा है, वहां गेहूं की कटाई बाकी है। पिछले दिनों बारिश होने से कई मंडियों मंे गेहूं भीग चुकी है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें