जांच के बाद कार्रवाई जाएगी:क्रशर की मशीनरी व जमीन 7.30 करोड़ में बेची बाद में हमला करके छीनने के आरोप में केस

नंगल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजस्थान के व्यक्ति ने नवांशहर की पार्टी से की थी खरीद
  • पुलिस को बताया- 4 करोड़ 50 लाख रुपए की पेमेंट भी कर चुका

क्रशर की मशीनरी और जमीन बेचने के बाद हमला करके वापिस छीनने के आरोप में स्थानीय पुलिस ने केस दर्ज किया है। पुलिस को दी शिकायत में महिंदर सिंह गोथारा वासी राजस्थान नेे बताया कि 2020 में उसने खेड़ा कलमोट का महिंदर स्टोन क्रशर हरमन सिंह निवासी गांव भगौरा नवांशहर से 7 करोड़ 30 लाख रुपए में जमीन व मशीनरी समेत खरीदा था। इसकी उनसे अपने पार्टनरों सहित 4 करोड़ 50 लाख रुपए पेमेंट भी दे दी। जब जमीन की निशानदेही कराई तो हरमन सिंह व उसके पिता बलवीर सिंह के कहे अनुसार जमीन कम निकली। उनको जमीन कम निकलने का मामला निपटाने के लिए कहा तो उन्होंने ठीक ढंग से बात नही की। अब करीब 15 दिन उसने दिनेश चौधरी वासी बीकानेर, जीवन दास स्वामी वासी अफसार व हरीष वासी नेपाल को क्रशर की देखरेख संभाली अौर अपने गांव राजस्थान चला गया।

महिंदर ने बताया कि 24 अप्रैल को सुनील राणा वासी नांनग्रां ने फोन पर बताया कि क्रशर पर रहने वाले लोगों पर किसी ने हमला कर दिया है। अपने लोगों से संपर्क करने पर दिनेश चौधरी समेत अन्य ने बताया कि बलवीर सिंह, हरमन सिंह व गगन सिंह पुत्र बलवीर सिंह ने 20-25 लोगों के साथ क्रशर पर आकर उन पर हमला कर दिया और उनके फोन बंद करके उनको बंदी बना लिया। वह क्रशर की मशीनरी, 4 टिप्पर, 2 पोक लाइन मशीन, एक लोडर ले गए और उनको अनजान जगह लेजाकर मारने की कोशिश की लेकिन बाद में चंडीगढ़ छोड़ दिया। आरोपियों ने धमकी दी कि अगर क्रशर पर दोबारा आए तो जान से मार देंगे। महिंदर सिंह ने कहा कि बलवीर सिंह, हरमन सिंह, गगन ने 20-25 लोगों के साथ उसके लोगों के साथ मारपीट की और अगवा किया। मशीनरी को जबरदस्ती ले जाने व क्रशर पर कब्जा करने की कोशिश की। इनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। थाना प्रभारी ने कहा कि शिकायतकर्ता के बयानों पर केस दर्ज किया है। जांच के बाद कार्रवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...