गबन का आरोप / सचिव ने 18 लाख का गबन और 11.5 लाख का दुरुपयोग किया, खातों में दिखाए लाखों के जाली लोन : पूर्व सचिव

प्रेस वार्ता में जानकारी देते गांव गौसला के गुरचरन सिंह। प्रेस वार्ता में जानकारी देते गांव गौसला के गुरचरन सिंह।
X
प्रेस वार्ता में जानकारी देते गांव गौसला के गुरचरन सिंह।प्रेस वार्ता में जानकारी देते गांव गौसला के गुरचरन सिंह।

  • खेतीबाड़ी सहकारी सभा लि. दुलची माजरा में 29 लाख के गबन का आरोप
  • गुरचरन सिंह अपना गबन छुपाने के लिए लगा रहा झूठे आरोप : मौजूदा सचिव
  • मेंबरों के खाते से लोन देने और वसूली करने की जाली एंट्री : गुरचरन सिंह

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

रोपड़. रोपड़ प्रेस क्लब में मंगलवार को गांव गौसला के गुरचरन सिंह ने अपने सहयोगियों के साथ आरोप लगाया है कि दी दुलची माजरा बहुमंतवी खेतीबाड़ी सहकारी सभा लि. गांव दुलची माजरा के सचिव सुखजिंदरपाल सिंह ने सोसायटी के कई खेतीबाड़ी व नॉन खेतीबाड़ी मेंबरों के खातों में गलत तरीके से रकम दिखाकर 18 लाख 2 हजार 348 रुपए का गबन और 11 लाख 51 हजार 800 रुपए का दुरुपयोग किया है।

इसकी कुल राशि 29 लाख 54 हजार 148 रुपए बनती है। यह घपला 1 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2019 के स्पेशल ऑडिट में सामने आया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि सहकारी विभाग के उच्च अधिकारियों और सभा मेंबरों की मिलीभगत से सोसायटी का सचिव सरकार को लाखों रुपए का चूना लगा रहा है।

उधर, सचिव ने सभी आरोपों को नकारा और डीआर ने कहा कि स्पेशल ऑडिट रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

गैर खेतीबाड़ी मेंबरों को सिर्फ 15 हजार रुपए कर्ज का प्रावधान, खाते में दिखाए लाखों

गुरचरन सिंह ने कहा कि सभा की तरफ से गैर खेतीबाड़ी मेंबरों को सिर्फ 15 हजार रुपए तक ही लोन के रूप में रकम दी जा सकती है। लेकिन सचिव की तरफ से लाखों रुपए की जाली एंट्री खातों में दिखाई गई हैं।

इससे साफ पता लगता है कि सचिव द्वारा लाखों रुपए की रकम गबन करने की मंशा के साथ यह सब किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार और विभाग से पहले भी लिखती रूप से कई बार मांग की है और अब भी वह मांग करते हैं कि सचिव के खिलाफ कानून अनुसार बनती कार्रवाई करके नौकरी से बरखास्त किया जाए।

मामले में रिकवरी जारी है, विभागीय जांच पूरी करने के बाद पुलिस को कार्रवाई के लिए लिखेंगे : डीआर

इस संबंधी, डीआर पूर्ति राणा ने कहा कि स्पेशल ऑडिट रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जा रही है। जबकि इस मामले में रिकवरी भी की जा रही है अगर रिकवरी पूरी भी हो जाती है तो विभागीय जांच पूरी कर पुलिस को कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा।

आरोप गलत, पूरी रिकवरी करवा दी है : सचिव सुखजिंदरपाल

सचिव सुखजिंदरपाल सिंह ने अपने पर लगे आरोपों को नकारते हुए कहा कि उन्होंने पूरी रिकवरी करवा दी है जबकि गुरचरन सिंह ने खुद 2004 में करीब 16 लाख का गबन किया था और इस मामले में हाईकोर्ट में उनकी जमीन पर लगी स्टे भी टूट गई है। जिसके चलते गुरचरन सिंह अपने गबन छुपाने के लिए मेरे ऊपर आरोप लगा रहा है।

मेंबरों के खाते से लोन देने और वसूली करने की जाली एंट्री : गुरचरन सिंह

गुरचरन सिंह ने कहा कि सचिव की तरफ से हाथ से लिए गए नकदी पैसों को कम करने के लिए उनके खातो में पैसे दिखाए गए हैं। जिनकी जांच दौरान पता चला कि इनका सोसायटी में कोई खाता ही नहीं है।

सभा में एक मेंबर के निजी खाते अनुसार मेंबर की तरफ कुल 1 लाख 71 हजार 200 रुपए का कर्ज दिखाया है, जिसमें सभा सचिव द्वारा 29 मार्च 2019 को कर्ज वसूली असल 1 लाख 40 हजार, ब्याज 23 हजार 215 और कुल 1 लाख 63 हजार 215 रुपए दिखाए हैं और 31 हजार 200 रुपए का कर्ज मेंबर की तरफ बाकी दिखाया है।

जबकि के बैंक के शेडो खाते को सभा के पर्सनल लेजर के साथ मिलाने से पाया गया कि मेंबर का बैंक में 1 लाख 71 हजार 200 रुपए का कोई कर्ज देने वाला नहीं है और न ही 29 मार्च 2019 को हुई वसूली बैंक मंे जमा हुई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना