पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्यारोपी गिरफ्तार पुलिस से कबूला:कनाडा जाने के लिए चाहिए थे 15 लाख, इसलिए तरुणवीर को किया किडनैप, पहचान छिपाने के डर से कर दी हत्या

नवांशहर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बलाचौर के 10वीं के छात्र की किडनैपिंग के बाद हत्या मामले में बड़ा खुलासा
  • पुलिस के अनुसार-आरोपियों ने दो दिन तक की थी तरुणवीर की रेकी, नवांशहर रेलवे स्टेशन के पास धर्मशाला में रुका था एक आरोपी, लोगों द्वारा कार की पहचान से ही आरोपियों तक पहुंची पुलिस, 5 दिन का लिया रिमांड

बलाचौर के 10वीं के छात्र तरुणवीर का कत्ल उसके पड़ोसी जतिंदर उर्फ गगू ने अपने एक अन्य साथी सचिन भाटी के साथ मिलकर अपहरण वाले दिन (30 अक्टूबर को) ही कर दिया था। आरोपियों का प्लान शुरू से ही तरुणवीर को किडनैप कर मारने का था। इसके लिए उन्होंने दो दिन तक तनवीर की रेकी भी की थी। जतिंदर को तरुणवीर के परिवार की चंडीगढ़ के पास कीमती जमीन के बारे में पता था।

उसने कनाडा जाने के लिए 15 लाख की रकम का इंतजाम करने के लिए अपने एक अन्य साथी नोएडा निवासी सचिन भाटी के साथ मिलकर तरुणवीर की किडनैपिंग का प्लान बना डाला। यह सारी जानकारी एसएसपी अलका मीणा ने दी। मीणा ने बताया कि जतिंदर ने सचिन को पहले नोएडा से बलाचौर बुलाया, फिर उसे नवांशहर में रेलवे स्टेशन के पास धर्मशाला में कमरा लेकर दिया। 29 अक्टूबर को वे तरुणवीर की किडनैपिंग के लिए बलाचौर गए। उस दिन तरुणवीर के साथ कोई और लड़का भी था।

अगले दिन यानी 30 अक्तूबर को उन्होंने तरुणवीर तो ये कहते गाड़ी में बिठा लिया कि वे कहीं जा रहे हैं तथा दुकान से कुछ सामान लेकर तुम्हें देते हैं, जिसे उनके घर दे देना क्योंकि तरुणवीर अपने पड़ोसी जतिंदर को जानता था इसलिए वह गाड़ी में वह बैठ गया। जब जतिंदर और सचिन ने गाड़ी गढ़शंकर की ओर भगा ली तो तरुणवीर ने पूछा कि उसे कहां ले जा रहे हो। इस पर आरोपियों ने उसे चूहे व काकरोच मार दवा मिलाकर कोल्ड ड्रिंक पीने को दी जिसे पीने से तनवीर ने इंकार कर दिया। इसके बाद आरोपियों ने तरुणवीर का रस्सी से गला दबा हत्या कर दी और शव को कीरतपुर साहिब के पास भाखड़ा नहर में फेंक दिया।

हत्या के बाद परिजनों से फिरौती मांगने की थी प्लानिंग

तरुणवीर का शव भाखड़ा नहर से बहता हुआ फतेहगढ़ साहिब तक पहुंच गया, जिसे पुलिस ने मंगलवार (3 नवंबर) को बरामद किया था। आरोपियों का प्लान था कि तरुणवीर उन्हें पहचान लेगा इसलिए उसकी हत्या कर देंगे तथा हत्या के बाद परिवार से 15 लाख की फिरौती मांगने की थी प्लानिंग। तरुणवीर को आरोपियों ने जहां से कार में बिठाया था, वहां पर लगे कैमरों व लोगों ने कार को पहले दिन ही पहचान लिया था इसी से पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया, जहां से उनका पांच दिन का रिमांड हासिल किया गया है।

आरोपियों पर इरादा-ए-कत्ल लूट और चोरी के कई मामले हैं दर्ज
अपहरण और हत्या के इन दोनों आरोपियों पर पहले भी कई मामले दर्ज हैं। एसएसपी अलका मीणा ने बताया कि सचिन भाटी पर चोरी, लूट, इरादा-ए-कत्ल व कत्ल आदि के पहले भी 13 मामले दर्ज हैं जबकि बलाचौर निवासी जतिंदर पर आर्म्स एक्ट व चोरी आदि के पांच मामले दर्ज हैं। जतिंदर ने अपने इस प्लान में सचिन को शामिल किया तथा पुलिस रिमांड अवधि में ये पता लगाने की कोशिश करेगी कि कहीं इस पूरे मामले में कोई और तो शामिल नहीं।

क्या है पूरा मामला

बलाचौर के जगतपुर रोड पर रहने वाले 10वीं के छात्र तरुणवीर को 30 अक्टूबर को उस समय किडनैप कर लिया गया था जब वे घर से पेंट की दुकान पर रंग लेने के लिए गया था। इस संबंध में उसकी मां कमलेश कौर ने 31 अक्टूबर को मामला दर्ज करवाया था। जांच के दौरान पता चला कि तरुणवीर को एक सफेद रंग की हांडा सिटी कार में बैठकर गया है। इसके बाद मंगलवार को तरनवीर का शव फतेहगढ़ साहिब के गांव मलिकपुर के पास नहर से मिली थी।

बलाचौर के वकीलों ने रोषस्वरूप बुधवार को कामकाज रखा बंद

बार एसोसिएशन की तरफ से बलाचौर के तरुणवीर सिंह की हत्या के रोष स्वरूप बुधवार को कामकाज बंद रखा गया। इस दौरान एसोसिएशन के प्रधान टीआर दत्ता, अवतार सिंह मान, हरजिंदर सिंह सैणी, जेके अग्निहोत्री, करनैल सिंह सैणी, उमा शंकर सहारन, दीपक शर्मा आदि ने तरुणवीर सिंह की आत्मिक शांति के लिए अरदास की। उन्होंने कहा कि पुलिस को इस मामले में तेजी से कार्रवाई करते तरुणवीर सिंह को बचाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि आरोपियों को सख्त व जल्द सजा दिलाने के लिए सरकार व प्रशासन को प्रयास करने चाहिए।

खबरें और भी हैं...