मरीजों का हाल जाना:डेंगू के अब तक 80 केस सामने आ चुके, निर्देश-जहां पर केस आ रहे वहां सुबह-शाम फॉगिंग कराना यकीनी बनाएं

नवांशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेहत विभाग की डिप्टी डायरेक्टर ने किया डेंगू वार्ड का दौरा

डिप्टी डायरेक्टर सेहत विभाग पंजाब डॉ. भूपिंदर कौर ने कहा कि सेहत विभाग ने डेंगू पर नकेल कसने के लिए जिले में किए जा रहे प्रबंधों पर तीखी नजर रखी हुई है। विभाग ने लोगों में जागरूकता फैलाने के साथ-साथ लारवे को खत्म करने के लिए सर्वे गतिविधियां भी तेज कर दी गई हैं। डॉ. भूपिंदर कौर स्थानीय सिविल अस्पताल में बुधवार को डेंगू वार्ड का दौरा कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदरबीर कौर, जिला सेहत अफसर डॉ. कुलदीप राए, जिला परिवार भलाई अफसर डॉ. राकेश चंद्र व जिला एपिडेमोलॉजिस्ट डॉ. जगदीप सिंह, डॉ. भूपिंदर कौर ने डेंगू के खिलाफ पुख्ता कदम उठाने पर विचार-चर्चा भी की। उन्होंने अस्पताल में बनाए गए डेंगू वार्ड में भर्ती मरीजों का हालचाल जाना।

उन्होंने सेहत अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए जिलावासियों से अपील की कि प्राइवेट अस्पतालों द्वारा डेंगू की जांच के लिए रैपिड कार्ड टेस्ट प्रमाणित नहीं है, इसलिए डेंगू के मरीजों की पुष्टि के लिए सरकारी अस्पताल में ही टेस्ट करवाया जाए। इसके अलावा बुखार से पीड़ित हर मरीज के खून के सैंपल लेकर डेंगू की जांच करवाई जाए, ताकि हर शकी केस की पुष्टि होने के उपरांत इलाज शुरू किया जा सके। इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदरबीर कौर ने डॉ. भूपिंदर कौर को बताया कि जिले में अब तक डेंगू के 80 केस सामने आ चुके हैं। इस बीमारी पर नकेल कसने के लिए सेहत टीमें और अधिक सक्रिय होकर काम कर रही हैं। इस मौके पर एसएमओ डॉ. मनदीप कमल व जिला सूचना अफसर जगत राम मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...