पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ठगी का केस:एजेंटों ने युवक का कनाडा का जाली वीजा लगवाया, दुबई जाने लगा तो इमीग्रेशन ने पकड़ दर्ज करवाई एफआईआर

नवांशहर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • युवक 10 दिन की जेल काट जमानत पर रिहा होकर बाहर आया तो पुलिस से की ठग एजेंटों के खिलाफ शिकायत
  • आरोपियों ने रुपए 18 लाख में तय किया था सौदा

थाना सदर नवांशहर पुलिस ने विदेश भेजने के नाम पर 18 लाख रुपए की ठगी के आरोप में दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस से की शिकायत में गांव साहलों निवासी अमनदीप ने कहा है कि वे कनाडा जाना चाहते थे। इसी बीच उनके पिता के जानकार लोगों ने उनके पिता से संपर्क करके उन्हें कहा कि वे 18 लाख रुपए में उनके बेटे को कनाडा भेज देंगे।

जिसके चलते वे इस बात पर सहमत हो गए। पीड़ित परिवार ने आरोपियों को 18 लाख रुपए बैंक व कैश के रूप में दे दिए जिसके चलते आरोपियों ने उनके पासपोर्ट पर एक वीजा लगवा दिया। हालांकि वे दिसंबर 20 में कनाडा जाने वाले थे, मगर उनकी फलाईट से ठीक पहले वहां की फ्लाईटें बंद कर दी गईं थी, इसलिए वे जा नहीं पाए। इसी बीच उन्होंने अपना दुबई का वीजा लगवाया और वे दुबई जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचे थे। यहां इमीग्रेशन चेकिंग के दौरान उनके पासपोर्ट पर लगे कनाडा के वीजा को जब चेक किया गया तो वह जाली वीजा पाया गया। जिसके चलते इमीग्रेशन ने उनके खिलाफ दिल्ली में एफआईआर दर्ज करवाई और उन्हें जेल भेज दिया। करीब 10 दिन जेल में रहने के बाद वे जमानत पर घर वापस आए हैं।

जब उन्होंने आरोपियों के साथ इस संबंध में बात की तो आरोपियों ने उन्हें तीन अलग-अलग चेक जो कुल 18 लाख रुपए के बनते थे, उन्हें दे दिए। जबकि संबंधित खातों में कैश न होने के चलते उनके चेक कैश नहीं हुए। उन्होंने कहा कि मामले के संबंध में उन्होेंने पुलिस से शिकायत की है। उधर, पुलिस द्वारा जांच के बाद दोनों आरोपियों अटवाल कालोनी फिल्लौर के रहने वाले पवन कुमार व लुधियाना के साहनेवाल के रहने वाले परविंदर कुमार के खिलाफ मामला दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...