शुरुआत:सशस्त्र झंडा दिवस फंड में योगदान की शुरुआत, डीसी को लगाया टोकन फ्लैग; जिले के पास 26 शहीद फौजियों की विरासत

नवांशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीसी विशेष सारंगल को सशस्त्र झंडा दिवस पर टोकन फ्लैग लगाते जिला रक्षा सेवावां भलाई दफ्तर के कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
डीसी विशेष सारंगल को सशस्त्र झंडा दिवस पर टोकन फ्लैग लगाते जिला रक्षा सेवावां भलाई दफ्तर के कर्मचारी।
  • डीसी ने इस मौके स्पेशल न्यूज बुलेटिन ‘रणयोद्धे’ की कॉपी भी जारी की जिसमें सुरक्षा कर्मचारियों की भलाई स्कीमों संबंधी जानकारी दी गई

जिले में सशस्त्र झंडा दिवस फंड में योगदान की शुरुआत जिला रक्षा सेवाओं भलाई दफ्तर के कर्मचारियों द्वारा डीसी विशेष सारंगल को उनके दफ्तर में टोकन झंडा भेंट करके की गई। फंड के लिए योगदान डालते हुए डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल ने जिलावासियों से अपील की है कि वह रक्षा सेना भलाई कार्यों के लिए पूरी वचनबद्धता के साथ योगदान डालें, क्योंकि यह सारा पैसा रक्षा कर्मचारियों के परिवारों की भलाई के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। यह दिन सशस्त्र सेना के जवानों प्रति हमारा फर्ज प्रकटाने का दिवस है।

जिन्होंने पूरी दृढ़ता और बहादुरी के साथ हमारे देश की सरहदों की रक्षा की और कुदरती आफतों और जंग जैसी स्थितियों के मद्देनजर अनमोल सेवा निभाई। जैसे कि पिछले साल हम सभी कोविड महामारी के प्रभाव में थे। इसलिए हमें पिछले साल के जख्मों को भरने के लिए इस बार बढ़-चढ़ कर योगदान डालना चाहिए। डीसी ने सशस्त्र झंडा दिवस पर शहीद सैनिकों, सेवा कर रहे और पूर्व सैनिकों को उनकी महान बहादुरी और दृढ़ इरादों के लिए याद करते कहा कि शहीद भगत सिंह नगर जिले के पास 26 फौजी शहीदों की शानदार विरासत है, जिन्होंने देश की सुरक्षा के लिए अपनी, जान कुर्बान की। सैनिक हमारी सरहदों की सुरक्षा के लिए बेहद कठिन हालातों में अपनी ड्यूटी निभाते हैं और हम उनकी सावधानी से ही चैन की नींद का आनंद मानते हैं। डीसी ने इस मौके स्पेशल न्यूज बुलेटिन ‘रणयोद्धे’ की कॉपी भी जारी की जिसमें सुरक्षा कर्मचारियों की भलाई स्कीमों संबंधी जानकारी दी गई है। इस मौके पर एडीसी (जनरल) जसबीर सिंह और एसडीएम नवांशहर डॉ. बलजिंदर सिंह ढिल्लों, कुलवंत सिंह, रंजीता सहोता और इकबाल सिंह इत्यादि जीओजी के साथ मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...