15 को मनाया जाएगा दशहरा पर्व:दशहरा स्थल बदला, इस बार आईटीआई मैदान में होगा, शिव मंदिर से निकाली जाएंगी देवी-देवताओं की झांकियां

नवांशहर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईटीआई मैदान में झंडा स्थापित करते कमेटी के सदस्य। - Dainik Bhaskar
आईटीआई मैदान में झंडा स्थापित करते कमेटी के सदस्य।

दशहरा उत्सव कमेटी द्वारा चंडीगढ़ रोड पर स्थित आईटीआई के मैदान में 15 अक्टूबर को 25वां दशहरा धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। वीरवार को सुबह स्नेही मंदिर में पं. दिनेश मिश्रा व पं. आदित्य मिश्रा द्वारा हनुमान जी के झंडे का पूजन किया गया, इसके बाद बैंड बाजे के साथ स्नेही मंदिर से हनुमान जी के झंडे को ले जाकर कमेटी सदस्य आईटीआई के मैदान में पहुंचे। वहां पर विधि विधान से पूजन करने के बाद हनुमान जी का झंडा स्थापित किया गया।

आयोजक मुकंद हरि जुल्का ने बताया कि रोजाना नेहरु गेट मंदिर से भगवान की शाम को झांकियां निकाली जाएगी, जोकि आईटीआई में झंडे से वापस मंदिर में ही पुहंच कर संपन्न होंगी। आईटीआई के मैदान में झूले लग जाएंगे और 14 अक्टूबर तक शाम रावण का 55 फीट, कुंभकरण का 50 और मेघनाद का 45 फीट के पुतले पुतला खड़े कर दिए जाएंगे। इनका दहन 15 अक्टूबर को होगा। उससे पहले विभिन्न प्रकार की गेम्ज होगी। इस मौके पर डॉ. हरमेश पुरी, मोदप्रकाश पाठक, राजिंदर चोपड़ा, एडवोकेट जुगल किशोर दत्ता, सतीश तेजपाल, राजेश भारद्वाज, तिलक राज शर्मा, जोगिंदर पाल मौजूद रहे।

मिलिट्री ग्राउंड में आयोजन को लेकर आती रहती थी अड़चनें

स्थानीय चंडीगढ़ रोड स्थित मिलिट्री ग्राउंड (सरकारी स्कूल के पास) में पिछले 25 सालों से दशहरा मेला लगता आ रहा है। लेकिन हर साल मेले से पहले दशहरा कमेटी को तरह तरह की मंजूरियां लेने के लिए जालंधर कैंट जाना आना पड़ता था। यही नहीं कई बार मंजूरी ही अंतिम समय पर दी जाती थीं तथा इस कारण दशहरा कमेटी को तैयारियों में मुश्किल होती थी। इस बार सेना की ओर से ग्राउंड के चारों ओर नींव की खुदाई की गई है, जिससे ग्राउंड तक लोगों का पहुंचना आसान नहीं रहा। इसलिए दशहरा कमेटी की ओर से आईटीआई मैदान में इस आयोजन का फैसला लिया गया है। ऐसे ही विवादों के चलते एक बार राहों रोड पर दशहरा मेला करवाना पड़ा था।

खबरें और भी हैं...