दिवाली पर हवा खराब:सांसों में घुल रहा धुआं, पटाखों व नाड़ जलने से बढ़ा प्रदूषण एक्यूआई 500 के स्तर तक पहुंचा

नवांशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आम दिनों के मुकाबले 200 अंक बढ़ा एयर क्वालिटी इंडेक्स

त्योहारी मौसम में सोशल डिस्टेंसिंग को धता बता जहां लोगों ने खूब जमकर खरीदारी की, वहीं पर्यावरण को लेकर भी लोग अधिक सजग नहीं नजर आए। दीपावली की रात को जहां जमकर पटाखे चले, वहीं पटाखों की आड़ में नाड़ जलाने के भी कई मामले सामने आए। पटाखों व पराली जलने की वजह से शहर में शुक्रवार को प्रदूषण का (पीएम 2.5) स्तर 500 तक पहुंच गया। इस सीजन में ये पहली बार है, जब प्रदूषण का स्तर इतना हुआ हो।

पिछले हफ्ते-दस दिनों से नवांशहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 150 से 300 के बीच बना हुआ था। वीरवार की रात को एयर क्वालिटी इंडेक्स 376 तक पहुंच गया था, जबकि इसके बाद पराली के धुएं की घटनाओं के साथ में जुड़ने से ये शुक्रवार दोपहर को 500 तक पहुंच गया। इससे पहले वीरवार सुबह ये 300 के आसपास था और शाम तक भी 325 ही था, लेकिन रात को जैसे ही लोगों ने पटाखे चलाने शुरू किए, तो इंडेक्स तेजी से बढ़ना शुरू हो गया। शुक्रवार सुबह तक ये 376 हो गया और दोपहर को ये 500 के स्तर तक पहुंच गया।

खबरें और भी हैं...