पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रदर्शन:किरती किसान और दोआबा किसान यूनियन ने रेलवे ट्रैक पर सुबह 12 से 4 बजे तक किया शांतिपूर्ण प्रदर्शन

नवांशहर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

संयुक्त किसान मोर्चे दिल्ली के आह्वान पर किरती किसान यूनियन व दोआबा किसान यूनियन द्वारा रेलवे स्टेशन नवांशहर में दोपहर करीब 12 बजे से शाम 4 बजे तक धरना दिया गया। इस दौरान जहां किसान नेताओं ने किसानों के हौसले की सराहना की, वहीं किसान नेताओं ने कहा कि यह फैसले की घड़ी है, इसलिए किसान-मजदूर दिल्ली संघर्ष को कामयाब करें। वहां लगातार किसान व मजदूर, महिलाएं लगातार जाते रहें ताकि संघर्ष को मजबूत किया जा सके। किसान नेताओं ने कहा कि किसान बड़ी संख्या में दिल्ली मोर्चों पर पहुंचें ताकि मोदी सरकार को कृषि कानून रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़े।

फैसले की घड़ी, इसलिए किसान-मजदूर दिल्ली संघर्ष के लिए रहें तैयार : ढेसी - किरती किसान यूनियन के राज्य वित्त सचिव हरमेश ढेसी, दोआबा किसान यूनियन नेता हरमिंदर सिंह फौजी, अमरजीत सिंह बुर्ज, गुरभजन सिंह दियालां, इफटू नेता कुलविंदर सिंह वड़ैच, स्त्री जागृति मंच नेत्री बीबी गुरबख्श कौर संघा, बूटा सिंह, कैप्टन रघुवीर सिंह, जसवंत सिंह भट्‌ठल, अमरजीत सिंह करनाणा, हरबंस सिंह पैली ने कहा कि मोदी सरकार कृषि कानूनों के जरिए देश में किसानी को कॉर्पोरेट घरानों को गिरवी रखना चाहती है। मगर किसानी संघर्ष सरकार के इन मंसूबों को किसी भी कीमत पर सफल नहीं होनें देंगे।

कृषि कानूनों के खिलाफ यह संघर्ष अब देशव्यापी संघर्ष बन गया है। किसानी संघर्ष को दबाने के लिए मोदी सरकार डर को हथियार बना रही है। नेताओं पर झूठे केस बनाकर सरकार इस संघर्ष को दबाने के हर हथकंडे अपना रही है।नेताओं ने कहा कि कर्नाटक की पर्यावरण प्रेमी दिशा रवि का मामला एक बड़ी उदाहरण है। तानाशाही सरकार हमेशा लोगों में डर पैदा करती है, लोगों के संघर्ष को दबाने की कोशिश करती है। जबकि इसके विपरीत जमहूरी सरकार लोगों में कभी भी डर पैदा नहीं करती।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें