पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:मंडियों में 1 लाख मीट्रिक टन से अधिक हुई धान की आमद, अदायगी शुरू, किसानों और आढ़तियों को राहत

नवांशहर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नवांशहर, बंगा और बलाचौर मार्केट कमेटियों में धान की आमद हुई तेज

जिले की मार्केट कमेटी नवांशहर, बंगा व बलाचौर में धान की आमद में तेजी आ गई है। मंडियों में अब तक 1 लाख क्विंटल से अधिक धान की आमद हो चुकी है। यही नहीं विभिन्न खरीद एजेंसियों द्वारा मंडियों में खरीदे गए धान की पेमेंट सीधे किसानों के खातों में डालनी भी शुरू कर दी है, जिससे आढ़तियों व किसानों ने राहत की सांस ली है।

जिला मंडी अधिकारी स्वर्ण सिंह से मिली जानकारी के अनुसार तीनों मार्केट कमेटियों के तहत पड़ती अनाज मंडियों में धान की आमद में तेजी आई है। उन्होंने बताया कि मंडियों में कुल 1 लाख 8 हजार 747 मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है। जिसके तहत मार्केट कमेटी नवांशहर द्वारा 54 हजार 469 एमटी, बंगा द्वारा 28 हजार 725 एमटी और बलाचौर द्वारा 25 हजार 553 एमटी धान की खरीद की जा चुकी है।

एजेंसी वाइस खरीद की बात करें तो पनग्रेन ने कुल 38 हजार 524 एमटी, एफसीआई ने 423 एमटी, मार्कफैड ने 30 हजार 789 एमटी, पनसप ने 32 हजार 115 एमटी और वेयर हाउस कार्पोरेशन ने 6224 एमटी धान की खरीद की है। उन्होंने कहा कि मंडियों में धान की लिफ्टिंग का प्रबंध किया गया है ताकि मंडियों में किसानों को अपनी फसल रखने में परेशानी न आए।

पेमेंट मिलने से आढ़तियों और किसानों ने ली राहत की सांस

जानकारी के अनुसार मंगलवार से विभिन्न खरीद एजेंसियों खरीदे गए धान की पेमेंट किसानों के खातों में सीधे रूप से डाल रही हैं। कुछ एजेंसियों द्वारा 12-13 अक्टूबर तक की गई खरीद की पेमेंट किसानों के खातों में डाली जा रही है। वहीं कुछ एजेंसियों 7-8 अक्टूबर तक की पेमेंट डाल रही है। हालांकि पेमेंट शुरू होने से किसान व आढ़तियों ने राहत की सांस ली है।

किसानों का मानना था कि केंद्र सरकार का कृषि कानून बनाने व राज्य सरकार का मामले को लेकर स्टैंड साफ न करने की वजह से किसान दोनों सरकारों का विरोध कर रहे हैं। मगर सरकार द्वारा पेमेंट करने से किसान खुश नजर आ रहे हैं।

खबरें और भी हैं...