प्रदर्शन:बस की चपेट में आने से व्यक्ति की मौत, डीसी दफ्तर के समक्ष प्रदर्शन, परिजनों ने मांगी सरकारी नौकरी

नवांशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिसका ड्राइवर भी बस के पास ही खड़ा था। उन्होंने उसका नाम पता पूछा

थाना औड़ पुलिस ने रोडवेज बस व मोटरसाइकिल की टक्कर में एक व्यक्ति की मौत के मामले में एक व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार गांव जलाह माजरा निवासी गुरजीत सिंह ने बताया कि उनके पिता जोगिंदर सिंह पिछले करीब 20 वर्ष से इंडियन ऑयल कंपनी में ड्यूटी करते हैं। 2 नवंबर को शाम करीब 7 बजे गांव फांबड़ा मौजूद थे। इस दौरान उनके छोटे भाई हरदीप सिंह का फोन आया कि उनके पिता का एक्सीडेंट हो गया है। उन्होंने मौके पर जाकर देखा तो उनके पिता की डेड बॉडी व मोटरसाइकिल टावर की ओर गिरा पड़ा था और पास में एक रोडवेज की बस (पीबी-32-जे-7531) सड़क किनारे खड़ी थी।

जिसका ड्राइवर भी बस के पास ही खड़ा था। उन्होंने उसका नाम पता पूछा। उसने अपना नाम हरनामपुर लुधियाना निवासी अवतार सिंह बताया। उन्होंने मौके पर पता कि तो उन्हें पता चला कि उनके पिता अपने मोटरसाइकिल (पीबी-32-यू-4526) पर सवार होकर औड़ से उड़ापड़ को जा रहे थे। इस दौरान फिल्लौर की ओर से पंजाब रोडवेज की उक्त बस आई और उनके पिता को टक्कर मार दी। जिससे उनके पिता की मौके पर ही मौत हो गई। इस संबंध में पुलिस ने उक्त बस चालक के खिलाफ धारा- 279, 304-ए, 427 के तहत मामला दर्ज किया है। उधर, शुक्रवार को परिवार वालों की ओर से डिप्टी कमिश्नर दफ्तर के समक्ष प्रदर्शन किया गया। उस दौरान पारिवारिक सदस्यों देसराज, गुरजीत सिंह आदि ने उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और 25 लाख रुपए मुआवजा दिया जाए। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगें न मानी गईं तो वे अपना संघर्ष तेज करेंगे और लगातार धरना जारी रखेंगे।

खबरें और भी हैं...