• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Nawanshahr
  • School Will Remain Closed For 14 Days If More Than 2 Infected Come, Government Engaged In Preparations To Save And Prevent Children From Possible Third Wave Of Corona

तैयारी:2 से अधिक संक्रमित आने पर 14 दिन बंद रहेगा स्कूल, कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बच्चों को बचाने व रोकथाम को तैयारियों में जुटी सरकार

नवांशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बच्चों को संक्रमण से बचाने और रोकथाम के लिए सरकार तैयारी में जुटी है। वहीं, बच्चों के लिए स्कूलों के द्वार खोल दिए गए हैं। विशेषज्ञों की मानें तो स्कूल खोलने का फैसला गलत नहीं है। लेकिन बच्चों को संक्रमण से बचाव के लिए स्कूलों में किस तरह की इंतजाम किए गए हैं।

इसे लेकर सतर्क और निरंतर निगरानी होनी चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने सिविल सर्जन को स्कूलों पर विशेष नजर रखने के लिए निर्देश जारी किए हैं। स्कूल में अगर किसी क्लास में कोई एक कोरोना का मरीज आता है तो पूरी क्लास को 14 दिनों के लिए एकांतवास पर जाना होगा। वहीं, अगर स्कूल में दो या इससे अधिक मरीज आते हैं तो स्कूल को 14 दिन के लिए बंद कर दिया जाएगा।

बच्चों व स्टाफ की एंट्री और एग्जिट पर रोजाना तापमान होगा चेक
कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए स्कूलों में विद्यार्थियों और स्टाफ की नियमित रूप में एंट्री और एग्जिट प्वाइंटों तापमान की जांच की जाएगी और संदिग्ध मामलों का पता लगाने के लिए इनफ्लूएंजा जैसी बीमारी के लिए सिंड्रोमिक निगरानी की जाएगी। कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार संपर्क में आए लोगों का पता लगा उनकी जांच की जाएगी।

अध्यापक गैर-हाजिर विद्यार्थियों को इनफ्लूएंजा जैसी बीमारी के लक्षणों बारे पूछताछ करेंगे। विभाग ने स्कूल प्रमुखों को निर्देश दिए हैं कि वह हर दिन की कोरोना संबंधित जानकारी को ई-पंजाब पोर्टल पर अपलोड करेंगे। सरकारी स्कूलों के साथ ही छोटे-बड़े व अन्य निजी स्कूलों को भी इन निर्देशों का पालन करना होगा। दूसरी लहर के बाद राज्य में अब कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। जिले में दो अगस्त को स्कूल पूरी तरह खोल दिए गए हैं। हालांकि जिला प्रशासन ने स्कूलों को सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन को अपनाने के सख्त निर्देश दिए हैं।

सिविल सर्जन बोले-

राहत : फिलहाल स्कूलों में कोई संक्रमित नहीं मिला
सिविल सर्जन डॉ. गुरविंदरवीर कौर बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए गठित की गई टीम स्कूलों की निगरानी कर रही है। फिलहाल जिले में अभी तक कोई स्कूली बच्चा संक्रमित नहीं हुआ है। रैंडम सैंपलिंग के लिए भी कहा गया है।

डिप्टी डीईओ बोले-

प्रबंध : हर स्कूल में निगरानी के लिए नोडल अफसर रखे
डिप्टी डीईओ छोटू राम ने कहा कि स्कूली बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए पूरा प्रबंध किया गया है। निगरानी के लिए हर स्कूल में नोडल अफसर भी नियुक्त किए गए है और सरकार की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...