पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धीमा पड़ा डीएसी के पुलिस विंग का काम:पुलिस विंग को नवंबर तक पूरा करने के लिए बढ़ानी होगी स्पीड, लोक निर्माण विभाग को मिल चुके हैं 25 करोड़ रुपए

नवांशहर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोेरोना में लेबर की कमी के चलते धीमा पड़ा डीएसी के पुलिस विंग का काम, नवंबर 2019 में पूरा करने का था लक्ष्य

नवांशहर को जिला मुख्यालय बने करीब 25 साल बीत चुके हैं, मगर अभी भी जिले में कई अधिकारियों को अपने विभाग की इमारत नसीब नहीं हुई। वहीं दूसरी तरफ हालात यह हैं कि यहां जिला मुख्यालय में निर्माणाधीन जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स (डीएसी) के पुलिस विंग का निर्माण कार्य बीते करीब डेढ़ साल से धीमी गति से चल रहा है।

अकाली-भाजपा सरकार के समय शुरू हुआ ये काम पहले फंडों के अभाव के कारण काम रुका रहा, अब कोरोना काल में लेबर की कमी की वजह से काम धीमी गति से चल रहा है। हालांकि लोक निर्माण विभाग के एसडीओ जसवंत सिंह ग्रेवाल की मानें तो लक्षय 2 महीने में काम पूरा करने का है। मगर जिस गति से काम चल रहा है, उससे यही लगता है कि काम लंबा खींच सकता है।

यहां बता दें कि 15 अगस्त 2019 को जब कैबिनेट मंत्री सुंदर श्याम अरोड़ा ने जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स (डीएसी) के डीसी विंग का उद्घाटन किया था। तब उन्होंने ही कहा था कि डीएसी के दूसरे हिस्से यानी पुलिस विंग का काम भी 3 महीने यानि नवंबर 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा।

डीएसी के डीसी विंग के उद्घाटन को एक साल से ऊपर का समय बीत चुका है, मगर अभी तक डीएसी के पुलिस विंग का काम पूरा नहीं हो पाया है। यही नहीं विभाग को डीएसी प्रोजेक्ट के तहत लागत राशि यानि करीब 25 करोड़ रुपए भी सरकार द्वारा जारी हो चुके हैं।

विभाग द्वारा धीमी गति से कार्य किया जा रहा है, जिससे लगता है कि इसी गति से काम चला तो पुलिस विंग का काम तीन-चार महीने में ही निपट पाएगा। लोक निर्माण विभाग के एसडीओ बोले : दो महीने में काम पूरा करने का लक्ष्य

बीते 3 सालों से किसी न किसी कारण से रुकता रहा निर्माण कार्य

डीसी विंग का काम पूरा, पुलिस विंग अधूरा डीएसी जिला मुख्यालय का अहम हिस्सा है। डीएसी की कमी के कारण जहां पहले कई विभागों के दफ्तर अन्य विभागों की इमारतों व निजी इमारतों में चल रहे थे। डीएसी के ए-ब्लॉक यानि डीसी विंग का काम पूरा होने पर डीसी दफ्तर सहित अन्य कई दफ्तर ए-ब्लॉक में शिफ्ट हो गए हैं। मगर बी-ब्लॉक जो पुलिस विंग कहलाता है, का काम पूरा नहीं हो पाया।

जिससे पुलिस प्रशासन की दफ्तरों की कमी संबंधी समस्या हल नहीं हो पाई। पुलिस विंग का काम पूरा न होने के कारण अभी भी कई पुलिस अधिकारियों को रैंक के अनुसार दफ्तर नहीं मिल पा रहे। यही नहीं कई अधिकारियों के दफ्तर तो निजी इमारतों या फिर किन्हीं अन्य विभागों की इमारतों में चल रहे हैं। इसलिए पुलिस विभाग को पुलिस विंग की जरूरत है, जिसके लिए लोक निर्माण विभाग लेबर व कारीगरों की कमी से जूझ रहा है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें