कर्मचारियों में रोष:स्टाफ नर्सों ने सिविल अस्पताल में दिया धरना, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

नवांशहर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नर्सिंग काडर के साथ बार-बार बैठक किए जाने के बावजूद सरकार द्वारा कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया जा रहा

ज्वाइंट एक्शन कमेटी पंजाब और यूटी के आह्वान पर स्टाफ नर्सों ने हड़ताल के तहत सिविल अस्पताल में धरना दिया। हड़ताल की वजह से अस्पताल में इमरजेंसी, डायलिसिस, गायनी सेवाएं पूर्ण रूप से बंद रहीं। धरने को संबोधित करते हुए नेता परमिंदर कौर ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा संगठन के साथ की गई बैठक के दौरान 5 जनवरी तक मांगों के संबंध में नोटिफिकेशन जारी करने का भरोसा दिया था। मगर समय बीतने के बावजूद सरकार ने कोई भी नोटिफिकेशन जारी नहीं किया, जिसके चलते कर्मचारियों में रोष है।

नर्सिंग काडर के साथ बार-बार बैठक किए जाने के बावजूद सरकार द्वारा कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया जा रहा। परमिंदर कौर व रणजीत कौर ने कहा कि अगर सरकार उनकी मांगें नहीं मानती तो शुक्रवार को पंजाब व यूटी के नर्सिंग काडर शुक्रवार को पंजाब व यूटी का नर्सिंग काडर सामूहिक छुट्‌टी लेकर डायरेक्टर ऑफिस व मुख्यमंत्री की रिहायश का घेराव करेगा। नेताओं ने कहा कि वे अपील करते हैं कि उनकी मांगों को पहल के आधार पर माना जाए, क्योंकि कोरोना के केस फिर से बढ़ने लगे हैं जिसके मद्देनजर सभी कर्मचारी पहले की भांति तन, मन से जनता की सेवा कर सकें। इस मौके पर नर्सिंग स्टाफ राज रानी, स्टाफ नर्स पूनम बाला, ताहिर दयाल, पुपिंदर, मोना, राजविंदर, मनदीप, केवल, प्रेम लता, हरमिंदर कौर, मनप्रीत कौर, गुरजीत कौर, अनीता, ऊषा रानी सहित अन्य स्टाफ भी मौजूद रहा।

खबरें और भी हैं...