पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आदेश जारी किया:सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों का दाखिला करवाने वाले टीचर्स के लिए पोर्टल पर जानकारी अपलोड करने का आज अंतिम दिन

नवांशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़ाने का प्रयास, माय चाइल्ड इन गवर्नमेंट स्कूल लिंक जारी

सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़ाने के प्रयास के तहत टीचर्स के लिए शिक्षा विभाग ने विशेष योजना की शुरुआत की है। सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों को दाखिल कराने वाले टीचर्स को प्रोत्साहित करने के लिए ई-पंजाब स्कूल पोर्टल पर बकायदा लिंक जारी किया गया है। सभी डीईओज को जारी पत्र में विभाग ने कहा है कि सरकारी स्कूलों में दाखिला मुहिम बहुत जोरों पर चल रही है। सभी अधिकारियों, स्कूल प्रमुखों, टीचरों के प्रयास से स्टूडेंट्स की इनरोलमेंट में लगातार वृद्धि हो रही है।

सरकारी स्कूलों के अकादमिक व सह अकादमिक उपलब्धियों के कारण बहुत सारा टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाखिल करा रहा है। ऐसे स्टाफ को बताया गया है कि वह ई पंजाब पोर्टल पर अपने स्टाफ लॉगइन माड्यूल में लॉगइन कर इसकी सूचना अपलोड करें। यह सूचना माय चाइल्ड इन गवर्नमेंट स्कूल लिंक पर अपडेट किया जाएगा। इसके अलावा प्राइवेट स्कूलों से दाखिल हुए बच्चों संबंधी सूचना ई पंजाब पोर्टल पर स्कूल लॉगइन में डेली डाटा अपडेशन कॉलम में अपडेट करना यकीनी बनाया जाए। यह अपडेशन 8 मई तक यकीनी बनाया जाए। शिक्षा विभाग की शिक्षा सुधार कमेटी के प्रवक्ता प्रमोद भारती कहते हैं कि अगर सरकारी अध्यापकों के बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ेंगे, तो निश्चित ही इससे लोगों में आत्मविश्वास बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई व बुनियादी ढांचे के स्तर में पिछले सालों में काफी सुधार आया है तथा ये प्राइवेट स्कूलों से किसी भी तरह कम नहीं हैं।

चैनल पर शैक्षणिक प्रोग्राम होंगे प्रसारित

सूबे भर में कोविड-19 की महामारी के कारण पंजाब सरकार की ओर से दिए गए निर्देशों के अनुसार फिलहाल प्रदेश में सभी स्कूल बंद पड़े हैं। वहीं इस महामारी के दौरा में शिक्षा विभाग की ओर से पहले से ही बच्चों को ऑनलाइन एजुकेशन उपलब्ध करवाई जा रही है।

अब विभाग ने पिछले साल की तरह की डीसी पंजाबी व ई विद्या चैनल पर पहली से बारहवीं तक के बच्चों को लिए शैक्षणिक प्रोग्रामों के प्रसारण का फैसला किया है। इसकी शुरुआत कर दी गई है। स्कूल प्रमुख चैनलों पर टेलीकास्ट होने वाले लेक्चरों का रोजाना स्टूडेंट्स से फीडबैक प्राप्त करेंगे। टीचर खुद भी ये प्रोग्राम देखेंगे और बच्चों के साथ लगातार तालमेल बनाकर उनकी परेशानियों का समाधान करेंगे। पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब की टीमें यह बात सुनिश्चित बनाएंगी कि लेक्चर देखने वाले बच्चों के परिजनों के साथ फोन पर संपर्क किया जाए।

खबरें और भी हैं...