पुतला फूंका:यूटी मुलाजिमों व साझा फ्रंट ने मांगों को लेकर फूंका वित्त मंत्री का पुतला, 13 को कोठी का करेंगे घेराव

नवांशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला स्तरीय रैली कर डीसी दफ्तर के सामने मनप्रीत सिंह का पुतला फूंका

मुलाजिमों व पेंशनरों की मांगों पर पंजाब सरकार के मंत्रियों द्वारा बनाई गई सहमति के बावजूद भी वित्त मंत्री द्वारा बार-बार अड़चन डालने के विरोध में मुलाजिमों ने जिला स्तर रैली करके डीसी दफ्तर के सामने वित्त मंत्री का पुतला फूंका। इस दौरान यूनियन ने जिला कनवीनर करनैल सिंह, जीत लाल, मुकंद लाल, नहिंदर कुमार की अगुवाई में वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। रोष रैली को संबोधित करते हुए कुलदीप सिंह दौड़का, राम लाल, जसविंदर औजला, सुच्चा राम, जीत राम, भलविंदर पाल, सुरेश कुमार, राम पाल, दलजीत सिंह ने पंजाब सरकार द्वारा बार-बार की गई मीटिंगों में बनाई गई सहमति के बावजूद वित्त मंत्री द्वारा मुलाजिमों व पेंशनरों विरोधी रवैया अपनाने की निंदा की।

उन्होंने कहा कि पेंशनरों के लिए किए गए नोटिफिकेशन में पेंशन रिवाइज न करके सिर्फ 15 फीसदी बढ़ोतरी देने से पेंशनरों से बड़ा धोखा किया है। पिछले दिनों कैबिनेट मंत्री विजय इंदर सिंगला से साझे फ्रंट के नेताओं की हुई मीटिंग में उन्हें सहमति दी गई थी कि डीए 113 फीसदी की बजाए 119 के हिसाब से पे-कमिशन की रिपोर्ट बनती है, इसमें बढ़ोतरी के बारे में भी सहमति बनी थी। मुलाजिमों के लगातार संघर्ष के दबाव के तहत 11 फीसदी डीए की बढ़ोतरी का नोटिफिकेशन करने के दौरान पेंशनर्स को 11 फीसदी डीए देने का कोई भी जिक्र नहीं किया और 119 फीसदी डीए का अभी तक कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया। इससे ये साबित होता है कि पे-कमिशन के बारे में सरकार की नीयत साफ नहीं है। इस दौरान उन्होंने बताया कि कि 13 नवंबर को वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल के हलके बठिंडा में रैली करके उसकी कोठी का घेराव किया जाएगा। इसके अलावा पंजाब बचाओ संयुक्त मोर्चा की 28 नवंबर की लुधियाना रैली में शामिल होंगे। समुह मुलाजिम मांगों की पूर्ति होने तक मरिंडा में चल रहे पक्के मोर्चे को कामयाबी से चलाने के लिए अधिक से अधिक योगदान डालने की अपील की। उन्होंने पंजाब सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि मांगों की पूर्ति तक मरिंडा में पक्का मोर्चा जारी रहेगा। पंजाब के मुलाजिमों द्वारा लंबे समय से लगातार संघर्ष करने व नेताओं के साथ मीटिंग करने के बावजूद भी समुह वर्गों के मुलाजिमों को पूरे ग्रेडों में रेगुलर करने बारे, 2004 के बाद नियुक्त मुलाजिमों पर पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने, मान भत्ता मुलाजिमों को कम से कम मेहनताना के घेरे में लाकर मेहनताना देने, प्राथमिक वेतन पर नियुक्ति का नोटिफिकेशन रद्द करने, जुलाई 2020 से केंद्रीय स्केल लागू करने का नोटिफिकेशन रद्द करने, मीटिंगों में नेताओं द्वारा दिए गए सुझाव के अनुसार पांचवें पे-कमिशन की त्रुटियां दूर करके पे-कमिशन की रिपोर्ट का संशोधन करके लागू करने, पेंशनर्स के नोटिफिकेशन संशोधन करके लागू करने, हर तरह के कच्चे मुलाजिम पक्के करने, पुरानी पेंशन बहाल करने, पंजाब रोडवेज में कर्जा मुक्त बसों को स्टाफ सहित रोडवेज में शामिल करने, बेरोजगार अध्यापकों की मांगों को तुरंत मानते हुए योग्य रोजगार देने, खाली पोस्टों को पूरे ग्रेड पर भरने, मान भत्ता मुलाजिमों को कम से कम मेहनताना के घेरे में आने की मांग की।

खबरें और भी हैं...