सबसे बड़ी चिता / शहर में पहली बार एक दिन में 02 केस कोरोनावायरस पॉजिटिव, अब तक कुल आठ

02 cases of coronavirus positive in a day for the first time in the city, so far a total of eight
X
02 cases of coronavirus positive in a day for the first time in the city, so far a total of eight

  • दो कोरोना पॉजिटिव का सोर्स पता नहीं, ऐसे और केस मिले तो स्टेज-3 का खतरा आ सकता है
  • कोरोना पॉजिटिव महिला का बेटा, एमएलए बावा हैनरी के साथ रहने वाले युवक के पिता संक्रमित
  • पीड़ित प्रवीण के पारिवारिक सदस्यों के सैंपल लिए, देर रात करवाई अनाउंसमेंट- घरों में ही रहें

दैनिक भास्कर

Apr 09, 2020, 04:08 AM IST

जालंधर. (प्रभमीत सिंह)  जिले में बुधवार काे पहली बार काेराेना पाॅजिटिव के दाे केस सामने आए। निजात्म नगर की कोरोना पॉजिटिव महिला का बेटा रवि छाबड़ा और एमएलए बावा हैनरी के साथ रहने वाले युवक दीपक के पिता प्रवीण कुमार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दाेनाें मरीज शहर के घनी आबादी वाले एरिया के निवासी हाेने के कारण विभाग की चिंता बढ़ गई है। खास बात यह है कि आठ दिन पहले रवि की रिपाेर्ट निगेटिव आई थी। चार दिन पहले मरीज सिविल अस्पताल में यह कहकर दाखिल हुआ कि सांस लेने में दिक्कत है। इसके बाद डॉक्टरों ने दाेबारा सैंपल लेकर अमृतसर भेजे थे जिसकी आज रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई। दोनों संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों की तलाश की जा रही है। मरीज के संक्रमित होने के साेर्स का पता लगाया जा रहा है। निजात्म नगर की बुजुर्ग महिला के बेटे ने शहर के मशहूर चेस्ट स्पेशलिस्ट से जांच करवाई थी। अब वहां के डाॅक्टर और 5 स्टाफ मेंबर्स ने खुद काे होम क्वारेंटाइन किया है। सेहत विभाग का कहना है कि अगर ऐसे ही दो या तीन दिन में केस सामने आने लगे तो हम स्टेज-3 में प्रवेश कर जाएंगे।

नारायण नगर में सैनिटाइजेशन कराने भी गया

निजात्म नगर की महिला का टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद परिवार के 14 सदस्यों को क्वारेंटाइन किया गया था। इसके बावजूद रवि बाहर आता-जाता रहा। बताया जा रहा है कि रवि ने नारायण नगर में टीम के साथ सैनिटेशन भी की थी। वहीं, लावां बाजार के प्रवीण पिछले हफ्ते दिलकुशा मार्केट में दवा लेने गए थे। प्रवीण की रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने के बाद दुकानदार सहम गए हैं।

पुलिस को व सड़कों पर लंगर भी बांटता रहा
होम क्वारेंटाइन के दौरान रवि ने लंगर बांटा था। सूत्रों के मुताबिक कर्फ्यू के दौरान मरीज पुलिस मुलाजिमों को सड़कों पर लंगर की भी सेवा कर रहा था। इसके बाद जिला प्रशासन के बड़े अधिकारियों की भी चिंता बढ़ गई है। जिला प्रशासन ने सभी पुलिस मुलाजिमों को लोगों से लंगर लेने से मना कर दिया गया है।

फेफड़े संक्रमित थे

निजात्म नगर की बुजुर्ग महिला के बेटे 38 साल के रवि छाबड़ा ने सिविल अस्पताल में दाखिल होने से पहले शहर के एक निजी अस्पताल में जाकर चेस्ट स्पेशलिस्ट से जांच करवाई थी। तब डॉक्टर द्वारा की गई जांच में रवि के फेफड़ों में इंफेक्शन आई थी। डॉक्टर काे जब पता चला कि इनकी मां काेराेना पाॅजिटिव हैं ताे दाेनाें में बहस हुई थी। यह बात छिपाने पर डाॅक्टर ने एतराज जताया था और अपनी एंबुलेंस में सिविल अस्पताल रेफर कर दिया था।

26 मार्च को रवि की मां को हुई थी कोरोना की पुष्टि

निजात्म नगर की बुजुर्ग महिला को 26 मार्च को कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई थी। इसके बाद पूरा इलाका सील किया गया था। महिला का सीएमसी लुधियाना में इलाज चल रहा है। डॉक्टरों के अनुसार महिला की हालत में सुधार है। उन्हें अब वेंटिलेटर की भी जरूरत नहीं है। बिना ऑक्सीजन मास्क सांस लेने में भी दिक्कत नहीं है। लावां मोहल्ला के बुजुर्ग को कोरोनावायरस का संक्रमण कैसे हुआ? इसका पता लगाया जा रहा है।

लावां मोहल्ला, चार दिन पहले सांस में दिक्कत पर सिविल पहुंचे थे बुजुर्ग; वेंटिलेटर पर रखा

जालंधर के लावां मोहल्ला के प्रवीण कुमार को 4 दिन पहले सिविल के मेडिसिन आईसीयू वार्ड में भर्ती करवाया गया था। चेस्ट में तकलीफ के कारण सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। इसके बाद डाॅक्टराें ने बुजुर्ग काे वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया था। प्रवीण में काेराेनावायरस के लक्षण थे। बुधवार काे अाई रिपाेर्ट में काेराेना की पुष्टि हाेने के बाद मिट्ठा बाजार, लावां माेहल्ला सील कर दिया गया है। जिक्रयाेग है कि प्रवीण कुमार काे 10-15 दिन पहले चेस्ट में तकलीफ हुई थी जिसके बाद वह पटेल चाैक स्थित रंजीत अस्पताल में इलाज करवाने गए थे। वहां पर डाॅक्टर ने एक्सरे के बाद उन्हें सिविल अस्पताल भेज दिया था। प्रवीण अपने डाॅक्टर मित्र से फाेन पर बात कर दवा लेते रहे। हालत में काेई सुधार नहीं हाेने पर सिविल अस्पताल पहुंचे।

लंगर बांटने की सेवा कर रहा था बेटा

काेराेना पाॅजिटिव प्रवीण कुमार का बेटा दीपक शहर में कर्फ्यू लगने के बाद समाजसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर शहर के विभिन्न इलाकों में लंगर बांटने की सेवा भी कर रहा था। दीपक शर्मा की कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं के साथ नजदीकी है। इसलिए कर्फ्यू के बावजूद वह प्रशासन के बड़े अधिकारियों के संपर्क में रहा। सेहत विभाग ने दीपक के साथ परिवार के 5 सदस्याें और घर में दूध की सप्लाई करने वाले के सैंपल लेकर सभी काे सिविल अस्पताल के आइसाेलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया है। दीपक के सैंपल पहल के आधार पर टेस्ट करवाए जाएंगे। देर रात मिट्‌ठा बाजार में पुलिस ने लोगों को घरों में ही रहने के लिए अनाउंसमेंट भी करवाई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना