पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना:जालंधर में अब तक पॉजिटिव 10,000

जालंधर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • राज्य में दूसरा सबसे संक्रमित जिला हमारे 7526 मरीज ठीक होकर घर लौटे रिकवरी 73 फीसदी, 2323 एक्टिव केस

जिले में कोरोना संक्रमितों की गिनती मंगलवार को 10 हजार से पार चली गई है जबकि पहली बार एक ही दिन में 12 संक्रमितों की मौत भी हुई है। इनमें 21 साल की युवती को सोमवार अस्पताल में दाखिल किया गया, जिसने मंगलवार को दम तोड़ दिया। इसके अलावा 4 मरीज देहात के रहने वाले थे जबकि बाकी शहर से संबंधित थे। इसके अलावा मंगलवार को 268 नए मामले सामने आए, जिनमें 9 बाहरी जिलों के रहने वाले हैं।

अब तक जिले में कुल संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 10121 और मृतकों की संख्या 271 तक पहुंच गई है। फिलहाल राहत की बात है कि एक्टिव मरीजों की संख्या 2323 है जबकि 7527 मरीज ठीक हो चुके हैं। अब तक जिले में 73 फीसदी मरीज ठीक भी हो चुके हैं। जबकि पठानकोट, कपूरथला, नवांशहर, गुरदासपुर और मोगा के अलावा अन्य जिलों के मरीजों का भी यहां इलाज चल रहा है।

जिले में लेवल-2 के मरीजों के इलाज के लिए मंगलवार शाम तक 606 और लेवल-3 के मरीजों के लिए 124 बेड और जिले में 63 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। अगर पंजाब की बात करें तो जालंधर संक्रमित और मृत्यु दर में दूसरे नंबर पर है। जबकि लुधियाना में सबसे ज्यादा केस हैं।

बसों में आने वाले श्रमिकों की नहीं हो रही जांच
कोरोना के चलते पलायन कर गए श्रमिक लौटने लगे हैं लेकिन अब उनके जालंधर पहुंचने पर कोई जांच नहीं हो रही। आते ही अगले दिन से वे फैक्ट्रियों आदि में काम पर लग जाते हैं। मंगलवार को बिहार से आए राजू यादव, सोमनाथ, शशिपाल, केवल मेहतो और 10 अन्य लोगों का कहना है कि ट्रेन में आने पर चेकिंग होती है और एक भी साथी संक्रमित निकल आता तो बाकी लोग भी 14 दिन काम नहीं कर पाएंगे। इसलिए उन्होंने 1500 रुपए बस का किराया देना अच्छा समझा।

इसलिए बनी यह स्थिति
बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है।
लोगों को पुलिस का भी खौफ नहीं, मास्क तक नहीं लगा रहे।
बिना लक्षण वाले लोगों की पहचान हो पाना मुश्किल है।
मंडियों और स्लम एरिया में लोग महामारी की नहीं कर रहे परवाह।

सबसे कम मई में और सबसे ज्यादा अगस्त में मिले मरीज

माह पॉजिटिव मौत 1 मई तक 123 00 31 मई तक 251 08 30 जून तक 468 13 31 जुलाई तक 1508 34 31 अगस्त तक 4273 110 15 सितंबर तक 3498 106 कुल 10121 271

अगस्त का आंकड़ा सितंबर के 15 दिन में ही हुआ पार
सितंबर को चुनौती मान सेहत विभाग ने पिछले महीने ही सैंपलिंग तेज कर दी थी। इसके बाद संक्रमित मरीजों की पुष्टि भी ज्यादा हुई और मृत्यु दर भी बढ़ी। अब तक सबसे अधिक 42 मौतें 8 से 13 सितंबर के बीच हुईं। इनमें 27 को कोरोना के अलावा अन्य बीमारियां भी थीं। जिले में पहली 41 मौतें 139 दिनों में हुई थीं। जबकि अब आंकड़ा सितंबर के महज 6 दिन में ही छू गया है।

मरीजों के साथ-साथ हुआ सैंपलिंग में इजाफा
जिले में कोरोना का पहला मरीज 19 मार्च को मिला था। लॉकडाउन में ढील के बाद संक्रमितों की गिनती में जहां इजाफा हुआ, वहीं सेहत विभाग ने जुलाई में सैंपलिंग की स्पीड भी बढ़ा दी गई। ज्यादा सैंपलिंग के साथ-साथ मरीजों का ग्राफ और ज्यादा बढ़ने लगा। अगस्त में 4000 से ज्यादा लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई। सिंतबर के शुरुआती 15 दिनों में ही 3498 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। जिले में कोरोनावायरस के पहला मरीज मिलने के बाद 15 सितंबर तक 271 लोगों ने दम तोड़ा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें