पेंशन बनी टेंशन:पेंशन रिकवरी के 139 करोड़ फंसे, 8089 लाभार्थियों की मौत; 95 लाख रुपए ही वसूले

जालंधर3 महीने पहलेलेखक: प्रभमीत सिंह
  • कॉपी लिंक
पेंशन रिकवरी - Dainik Bhaskar
पेंशन रिकवरी

पंजाब में 70,135 अयोग्य लाभप्रार्थियों से रिकवरी करने में वित्त विभाग और सामाजिक सुरक्षा और बाल विकास मंत्रालय फेल साबित हो रहा है। हालांकि पंजाब सरकार ने सभी जिलों को 22 अगस्त तक रिकवरी करने के लिए कहा था। लेकिन लोक सूचना विभाग की जानकारी के अनुसार पंजाब में 70137 लाभप्रार्थी अयोग्य थे, जिनसे कुल 162.35 करोड़ रिकवरी निकाली गई थी। अभी सिर्फ 95 लाख रुपए ही रिकवर हुए हैं। जोकि कुल रिकवरी का 1% भी नहीं है।

टॉप 5 पेंडिंग रिकवरी वाले जिले
टॉप 5 पेंडिंग रिकवरी वाले जिले

नोटिस जारी, कोई सहयोगी नहीं

पंजाब सरकार के लिए 70 हजार अयोग्य लाभ प्रार्थियों से पेंशन का पैसा रिकवर करना बड़ी चुनौती बन चुका है। अधिकारियों का कहना है कि अयोग्य पेंशन धारकों को नोटिस भेज रहे हैं। कई धारक तो अपने पते पर ही नहीं मिल रहे, जबकि कई लाभप्रार्थियों के खाते भी बंद हो चुके हैं। वहीं, जो पेंशन धारक पैसे ले रहे थे, उनसे रिकवरी चल रही है।

टॉप 5 मौतों वाले जिल
टॉप 5 मौतों वाले जिल

पेंशन रिकवरी के 139 करोड़ फंसे, 8089 लाभार्थियों की मौत, 95 लाख रुपए ही वसूले

पूरे पंजाब मे केवल फतेहगढ़ साहिब से ही 12 लाख से अधिक अधिक की रिकवरी हो पाई है। डायरेक्टर सोशल वेलफेयर अरविंदर पाल संधू के मुताबिक कुल 8089 मौतें हो चुकी हैं। मर चुके लाभार्थियों के 21 करोड़ छोड़ भी दिए जाएं तो 139 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम अभी भी पेंडिंग है।

रकम रिकवर करने का कोई खाका तैयार नहीं

अगस्त की रिपोर्ट अनुसार पंजाब में कुल 8089 अयोग्य लाभपात्रियों की मौत हो चुकी है। बठिंडा में सबसे ज्यादा 950 लाभार्थियों की मौत हो चुकी है। सूबे में ऐसे लाभपात्रियों से विभाग की तरफ से करीब 21 करोड़ से ज्यादा की रकम रिकवर करनी है। लेकिन मौतों के बाद विभाग इसे कैसे रिकवर करेगा, इसके लिए कोई भी खाका तैयार नहीं हुआ है। विभाग द्वारा ऑडिट रिपोर्ट तैयार की जा रही है।