पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • 196 Cylinders Of Oxygen Were Being 'wasted' In Jalandhar's Civil Hospital, If Disturbances Were Caught, Consumption Decreased From 410 To 214

शॉर्टेज के संकट के बीच बड़ा खुलासा:जालंधर के सिविल अस्पताल में 196 सिलेंडर ऑक्सीजन की जा रही थी 'बर्बाद', गड़बड़ी पकड़ी तो खपत 410 से घटकर 214 पर आई

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर के सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट की जांच करते ADC विशेष सारंगल। - Dainik Bhaskar
जालंधर के सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट की जांच करते ADC विशेष सारंगल।

जालंधर में ऑक्सीजन की शॉर्टेज के संकट के बीच बड़ा खुलासा हुआ है। यहां सिविल अस्पताल में रोजाना 196 सिलेंडर ऑक्सीजन की 'बर्बादी' की जा रही थी। सिविल अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट से पैदा हो रही ऑक्सीजन का यह 47.8% है। हालांकि जब इसकी ऑडिट की गई तो यह गड़बड़ी पकड़ में आई। जिसके बाद अस्पताल में ऑक्सीजन की डिमांड 410 सिलेंडर से घटकर 214 पर आ गई है। हालांकि सरकार से ऑक्सीजन की अर्जेंट मांग कर रहे अफसरों ने इस तरफ पहले ध्यान क्यों नहीं दिया? इसको लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।

गैरजरूरी कामों के लिए दी जा रही थी ऑक्सीजन

ADC विशेष सारंगल की अगुवाई में हुई ऑडिट के दौरान पता चला कि यहां बन रही ऑक्सीजन को गैरजरूरी कामों में इस्तेमाल किया जा रहा था। फिलहाल कोरोना की लहर को देखते हुए तमाम तरह की सर्जरी टाली जा चुकी हैं। इलाज में जहां भी ऑक्सीजन की जरूरत है, उसे बंद किया जा चुका है। अब ऑक्सीजन की सप्लाई सिर्फ कोरोना मरीजों के लिए सीमित कर दी गई है। इसके बावजूद सिविल अस्पताल की ऑक्सीजन दूसरे कामों में भी इस्तेमाल हो रही थी। फिलहाल अफसर इसकी जांच जारी होने की बात कहकर अधिकारिक तौर पर कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं।

अब हर सिलेंडर की खपत का रिकॉर्ड अनिवार्य

सिविल अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में गड़बड़ी पकड़े जाने के बाद हर सिलेंडर की खपत का रिकॉर्ड रखना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके लिए हर सिलेंडर की लॉग बुक में एंट्री जरूरी है। इसके अलावा वहां CCTV कैमरे लगा दिए गए हैं ताकि वहां की हर हरकत पर नजर रखी जा सके। ADC विशेष सारंगल ने कहा कि अब यहां ऑक्सीजन प्लांट की सख्त मॉनिटरिंग की जाएगी।

खबरें और भी हैं...